अखाड़ा परिषद अध्यक्ष ने कहा; जहां भी इस तरह के अतिक्रमण हैं, उन्हें भी हटाया जाए

इंदौर में कम्प्यूटर बाबा के गोम्मट गिरी वाले आश्रम को प्रशासन द्वारा तोड़े जाने की कार्रवाई काे अखाड़ा परिसर भोपाल ने सही बताया है। कम्प्यूटर बाबा के आचरण को संतों ने उचित नहीं बताया है। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने इसके लिए शिवराज सरकार को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि कम्प्यूटर बाबा का नाम ही अजीब है। अवैध कब्जा कर अपने लिए सुविधाजनक आलीशान भवन बनाया। यह निंदनीय है। कोई भी संत इस कार्य का समर्थन नहीं करेगा। इसके साथ ही इस तरह के जहां भी अतिक्रमण हैं, उन पर भी कार्रवाई की जाना चाहिए।

जहां गोशाला चलना चाहिए, वहां आप आश्रम बनाए हैं। मध्यप्रदेश सरकार ने उस अवैध कब्जे को हटाकर उचित कार्य किया है। क्योंकि आश्रम के नाम पर अवैध हथियार रख रहे हैं। तमाम ऐसी चीजें पाई गईं, जो संतों के आचरण के विपरीत है। संत का आचरण सबके लिए प्रेरणा दायक बनता है, लेकिन कम्प्यूटर बाबा के द्वारा जितने भी कार्य किए गए, वे संतों के विपरीत हैं।

अपने कार्य के लिए कभी इधर-कभी उधर, यह संतों का आचरण नहीं है। उनके इन्हीं कृत्यों को देखते हुए एक बार दिगंबर अखाड़ा ने उन्हें अखाड़े से हटा दिया था, लेकिन माफी मांगने पर वापस ले लिया था। अखिल भारतीय अखाड़ा ने भी उन्हें बाहर किए जाने का समर्थन किया था। उनका आचरण संतों के विपरीत है। अंत में यही कहूंगा, जैसी करनी वैसी भरनी।

यह हुई कार्रवाई

मध्य प्रदेश के इंदौर में नामदेव दास त्यागी उर्फ कम्प्यूटर बाबा के खिलाफ रविवार को अवैध कब्जे के मामले में कार्रवाई की गई। नामदेव को प्रिवेंटिव डिटेंशन के तहत हिरासत में लेकर जेल भेज दिया है। जिला प्रशासन ने जिस जमीन से अतिक्रमण हटाया है, उसका मूल्य लगभग 80 करोड़ रुपए है। सम्पूर्ण क्षेत्र का रकबा 40 एकड़ से भी अधिक है।

शासन की बैंक खातों पर नजर

प्रशासन को कम्प्यूटर बाबा के अनेक बैंक एकाउंट की शिकायत भी मिली है, जिसमें बताया गया है कि इन खातों में असामान्य रूप से राशियां जमा की गई हैं। इसकी जांच भी की जा रही है। जांच उपरांत आयकर विभाग को भी इसमें शामिल किया जाएगा। प्रशासन द्वारा अवैध रूप से विभिन्न स्थानों पर कब्जा की गई जमीन की जांच आरंभ कर दी गई है। अतिक्रमण हटाए जाने के दौरान 315 बोर की एक राइफल और एक एयरगन भी बरामद हुई । सुपर काॅरिडोर में सर्वे नंबर 103 वन विभाग की भूमि जो आईडीए प्रोजेक्ट में है, उस पर भी कम्प्यूटर बाबा का अतिक्रमण पाया गया है। राजस्व विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार 3500 स्क्वेयर फीट पर ग्राम छोटा बांगड़दा में संरचना बनाकर अतिक्रमण किया गया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने कम्प्यूटर बाबा के आचरण को संतों के खिलाफ बताया है।

Related Posts