इंदौर में एक दिन में रिकॉर्ड 595 नए केस; नाइट कर्फ्यू के 11 दिनों में भी ढाई गुना बढ़े मरीज, रिकवरी रेट गिरा

नाइट कर्फ्यू के बाद भी काेराेना ब्लास्ट लगातार जारी है। मंगलवार देर रात पूरे कोरोना काल में एक दिन में सबसे ज्यादा 595 संक्रमित मिले। वहीं, 4 की जान भी गई। इसके पहले 22 नवंबर को 586 नए पॉजिटिव मिले थे। नवंबर और दिसंबर के एक दिन को मिला लें तो 9131 मरीज मिले हैं, जबकि 84 की जान गई है। इनमें नाइट कर्फ्यू के 11 दिनों में 6171 संक्रमित पाए गए हैं। 37 मौतें भी हुई हैं। नाइट कर्फ्यू के पहले के 11 दिनों की बात करें तो 9 नवंबर से 20 नवंबर तक 2384 संक्रमित और 32 मौतें हुईं। इस लिहाज से मौतों के आंकड़ों में तो ज्यादा अंतर नहीं रहा, लेकिन संक्रमितों की संख्या ढाई गुना से ज्यादा हो गई।

पॉजिटिव रेट की बात करें तो दिवाली से पहले एक से 14 नवंबर के दौरान इंदौर में संक्रमण दर चार फीसदी थी। वहीं, दिवाली के बाद के दिनों में संक्रमण की दर 9 फीसदी के करीब थी। नाइट कर्फ्यू के बाद यह 10 फीसदी के करीब पहुंच गई है। रिकवरी रेट की बात करें तो 10 नवंबर को यह 93.6 फीसदी था, जो 20 नवंबर को कम होकर 91.67 फीसदी हो गया। इसके बाद यह गिरकर 87.70 फीसदी तक पहुंच गया है।

नाइट कर्फ्यू के पहले और बाद में रिकवरी रेट
10 नवंबर

  • संक्रमित – 34970
  • ठीक हुए – 32545
  • रिकवरी रेट – 93.6 फीसदी

20 नवंबर

  • संक्रमित – 36623
  • ठीक हुए – 35573
  • रिकवरी रेट – 91.67 फीसदी

1 दिसंबर

  • संक्रमित – 43286
  • ठीक हुए – 37963
  • रिकवरी रेट – 87.70 फीसदी

70 फीसदी मरीज होम आइसोलेशन में, अस्पतालों में 1700 बेड खाली
कोरोना संक्रमण का असर भले ही बढ़ रहा हो, लेकिन अधिकारियों का कहना है कि बेड खाली हैं। किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं है। 70 फीसदी मरीज होम आइसोलेशन में इलाज ले रहे हैं। डॉ. जड़िया के अनुसार शहर के सरकारी व निजी अस्पतालों में 1700 बेड खाली हैं। बेड की कोई समस्या नहीं है। ज्यादा से ज्यादा मरीज घर पर ही इलाज ले रहे हैं। निजी अस्पताल की बात करें तो यहां 950, जबकि सरकारी अस्पताल में 650 बेड रिक्त हैं।

रेसकोर्स क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया गया है।

मंगलवार रात आया अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा

मंगलवार रात को 5274 मरीजों की जांच रिपोर्ट आई, जिसमें से 595 मरीज संक्रमित पाए गए, जबकि 4629 की रिपोर्ट निगेटिव रही। 47 रिपीट पॉजिटिव रहे। जिले में अब तक 5 लाख 18 हजार 563 सैंपलों की जांच हो चुकी है। इसमें 43286 मरीज संक्रमित मिले, 37963 जहां ठीक होकर घर लौट गए। वहीं, 767 की मौत हो गई। जिले में लगातार एक्टिव केस बढ़ते जा रहे हैं। अब 4556 मरीजों का अलग-अलग जगह पर इलाज चल रहा है। राहत की बात यह है कि इनमें से 70 फीसदी से ज्यादा होम आइसोलेशन में हैं।

236 एरिया से मिले संक्रमित, सुदामा नगर सबसे ज्यादा संक्रमित
देर रात 236 एरिया से संक्रमित सामने आए। इसमें सुदामा नगर में सबसे ज्यादा 17 संक्रमित पाए गए। तिलक नगर में 12, भंवरकुआं में 11, खातीवाला टैंक में 9, सुखलिया में 9, सिलिकॉन सिटी, गोयल नगर और विष्णुपुरी में 8-8 मरीज मिले। द्वारिकापुरी, त्रिवेणी कॉलोनी, लुनियापुरा, चोइथराम अस्पताल और महू में 7-7, स्कीम नंबर 71, बिचौरी मर्दाना और गुर्जर खेड़ा में 6-6 मरीज मिले हैं। खजराना, राज महोल्ला, विजय नगर, मेन स्ट्रीट महू, सेम्स कैंपस, सिंधी कॉलोनी, महालक्ष्मी नगर, ब्रिज बिहार काॅलोनी, वैशाली नगर, बजरंग नगर और वैकुंठधाम में 5-5 मरीज सामने आए हैं।

नाइट कर्फ्यू का कितना असर
नाइट कर्फ्यू को लेकर सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जड़िया ने बताया कि इसका असर तात्कालिक नहीं 10 से 15 दिन बाद दिखेगा। 10 दिसंबर के बाद इसके बेहतर रिजल्ट देखने को मिलेंगे। नाइट कर्फ्यू के कारण रात में होने वाली पार्टियों में बड़ी संख्या में लोग शामिल नहीं हो पाएंगे, जिससे संक्रमण रुकेगा। ठंड के कारण भी संख्या में अधिकता आई है। लगातार बढ़ते संक्रमण को लेकर कहा कि लोग शादी में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सही तरीके से नहीं कर रहे हैं, मास्क भी नहीं लगा रहे हैं। इस कारण संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। संक्रमण को रोकने के लिए साउथ तुकोगंज, खातीवाला टैंक, रेस कोर्स रोड, उषा नगर और जावरा कंपाउंड को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है।

मार्च से अभी तक कुल पॉजीटिव मरीजों की सूची में टॉप फाइव एरिया

  • सुखलिया- 874 मरीज
  • सुदामानगर- 769 मरीज
  • विजयनगर- 698 मरीज
  • खजराना-568 मरीज
  • नंदानगर-445 मरीज

नवंबर महीने मेंं ऐसे घटे और बढ़े कोरोना मरीज

तारीख संक्रमित मौत
1 नवंबर 76 00
2 नवंबर 61 00
3 नवंबर 52 01
4 नवंबर 65 02
5 नवंबर 74 02
6 नवंबर 81 03
7 नवंबर 89 04
8 नवंबर 108 03
9 नवंबर 117 02
10 नवंबर 128 04
11 नवंबर 156 04
12 नवंबर 195 03
13 नवंबर 197 02
14 नवंबर 76 02
15 नवंबर 89 00
16 नवंबर 178 02
17 नवंबर 194 03
18 नवंबर 255 03
19 नवंबर 313 04
20 नवंबर 492 03
21 नवंबर 546 03
22 नवंबर 586 03
23 नवंबर 565 03
24 नवंबर 582 05
25 नवंबर 572 03
26 नवंबर 556 03
27 नवंबर 568 03
28 नवंबर 536 03
29 नवंबर 523 04
30 नवंबर 542 03

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

लगातार शहर में कोरोना पैर पसार रहा है, लेकिन राजबाड़ा सहित अन्य बाजारों में लोग बड़ी संख्या में खरीदारी को पहुंच रहे हैं।

Related Posts