उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर के आंगन में साल के आखिरी दिन हुई शिव आराधना

महाकालेश्वर मंदिर उज्जैन के आंगन में साल के आखिरी दिन गुरुवार को सुबह 10 बजे एक म्यूजिकल ग्रुप ने शिव आराधना की प्रस्तुति कर श्रद्धालुओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। ग्रुप के संयोजक दीपक मेहता ने बताया कि एक घंटे की प्रस्तुति में भगवान शंकर के भजनों को श्रद्धालुओं ने बड़े ही भक्ति भाव से सुना। उनका कहना था कि साल के आखिरी दिन प्रस्तुति करना यह बाबा महाकाल का आशीर्वाद रूपी फल है। उनकी भजन मंडली ने भजनों के माध्यम से विश्व को आने वाले साल में कोरोना महामारी से छुटकारा दिलाने की प्रार्थना की। उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द ही इस महामारी से छुटकारा मिलेगा और बाबा महाकाल की भस्मारती में उनके देश के कोने-कोन और विदेशों से आने वाले भक्तों को शामिल होने का मौका मिलेगा।

महाकाल के दर्शन के लिए सुबह से ही श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़

महाकाल मंदिर में गुरुवार को सुबह से ही बाहर से आए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। लोगों को गणेश मंडपम के बैरिकेड से ही दर्शन कराए गए। प्रांगण में लोगों ने मंदिर के सामने खड़े होकर फोटो खिंचवाई।

आगरा के तेजकुमार जैन ने बताया कि वह दो दिन पहले परिवार के साथ उज्जैन आए। जब से आए हैं, परिवार का पूरा समय महाकाल मंदिर में ही बीत रहा है। उनका कहना है कि जब दर्शन करने के लिए ही आएं हैं तो क्यों न ज्यादा से ज्यादा समय महाकाल मंदिर में ही बिताया जाए। उन्होंने महाकाल से अपने परिवार के लिए खुशियों की कामना की। साथ ही आने वाले समय में देश को कोरोना से मुक्ति मिलने की प्रार्थना की।

उदयपुर से आए विश्वजीत सिन्हा ने बताया कि वैसे तो नए साल का जश्न मनाने के लिए देश भर से लोग उदयपुर के टूरिस्ट प्लेस पर आते हैं लेकिन उन्होंने इस बार बाबा महाकाल के दर्शन कर नए साल का आगाज करने की प्लानिंग की।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

महाकाल मंदिर में श्रद्धालुओं ने साल के आखिरी दिन किए दर्शन।

Related Posts