कंप्यूटर बाबा बोले- शिवराजजी और उनके साथियों ने लोकतंत्र की हत्या करके सरकार बनाई, जतना ने कमलनाथ को चुना था

मध्य प्रदेश में होने वाले उपचुनाव को लेकर कांग्रेस और भाजपा के बीच जंग जारी है। इस जंग में अब कंप्यूटर बाबा संत-समाज के साथ कूद पड़े हैं। मंगलवार को बाबा ने संत समाज के साथ लोकतंत्र बचाओ यात्रा की शुरुआत की। उपचुनाव को धर्म और अधर्म की लड़ाई बताते हुए बाबा उन 25 विधानसभाओं में पहुंचकर चौपाल कार्यक्रम करेंगे, जहां पर कांग्रेस के विधायक भाजपा में शामिल हुए हैं। इंदौर स्थित आश्रम से बाबा मंदसौर के लिए बड़ी संख्या में साधु-संत के साथ रवाना हुए। बाबा ने कहा कि हम जनता से अपील करेंगे कि जिन गद्दारों ने आपके वोट को बेचकर आपको छला है, उन्हें वोट ना दें।

कंप्यूटर बाबा साधु-संतों के साथ उन 25 विधानसभा में चौपाल कार्यक्रम करेंगे, जहां कांग्रेस छोड़कर पूर्व विधायक भाजपा में आए।

कंप्यूटर बाबा ने कहा कि हम उन विधानसभा में जा रहे हैं, जहां-जहां वाेटर के साथ गद्दारी हुई है। जहां लोकतंत्र की हत्या हुई है। मैं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कहना चाहूंगा कि आप ने और आपके साथियों ने लोकतंत्र की हत्या करते हुए सरकार बनाई है। आपको ऐसी सरकार नहीं बनाना थी। जनता का विश्वास आप पर नहीं था। जनता ने आपको उखाड़ फेंका था। कांग्रेस को जनता ने पांच साल लिए थे, आपको नहीं। आपको पांच साल इंतजार करना था। यदि आपको इतना इंतजार नहीं करना था तो चुनाव लड़कर आना था। इस प्रकार की जो गद्दारी हुई है। अब धर्म और अधर्म की लड़ाई है, हम सब इसी को लड़ने जा रहे हैं।

बाबा बोले – हमारा उद्देश्य यही है भारत का संविधान जिंदा रहे, संविधान, प्रजातंत्र की रक्षा हो।

कांग्रेस मोह पर बाबा का कहना है कि मैं जनता, राजनेताओं और राजनीतिक विशेषज्ञों से पूछना चाहूंगा कि लोकतंत्र को बचाना हमारा कर्तव्य है या नहीं। हम किसी से यह नहीं कह रहे हैं कि वो किसे वोट दें। ये 25 गद्दार जिन्होंने शिवराज सरकार बनाकर मंत्री बन गए। विधायक पद छोड़ने के बाद भी ये खरीद-फरोख्त कर सरकार में आए गए। अभी कितने में बिके हैं, इस बात का पता नहीं है। यदि आपने फिर से इन्हें जिता दिया तो पता नहीं ये कितने में बिकेंगे।

मंदसौर के लिए रवाना हुआ बाबा का काफिला।

बाबा ने कहा कि हमारा उद्देश्य है कि भारत का संविधान जिंदा रहे, संविधान, प्रजातंत्र की रक्षा हो। जिन्होंने खुद को बेचकर वोटर को धोखा दिया। बिकते हुए वे दूसरी सरकार में शामिल हो गए। इन्होंने जनता को छला है। संत समाज जनता के सामने जाकर इन गद्दारों की पोल खोलेगी। हम सैकड़ों संत 25 विधानसभा में पहुंचकर इन गद्दारों को वोट नहीं देने की जनता से अपील करेंगे।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

कंप्यूटर बाबा ने संत-समाज के साथ लोकतंत्र बचाओ यात्रा की शुरुआत की।

Related Posts