कांग्रेस बोली- बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की बात करते हैं, बेटियां तो घर में ही सुरक्षित नहीं; शिवराज मामा तेरे राज में बेटियों होना अभिशाप है

शिवराज मामा तेरे राज में बेटियों होना अभिशाप है। बलात्कार में नंबर-1 मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश। बेटी हम शर्मिंदा हैं तेरे कातिल जिंदा हैं… जैसे स्लोगन के साथ सोमवार को कांग्रेसियों ने मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश सरकार पर जमकर हल्ला बोला। हाथरस गैंगरेप कांड को लेकर कांग्रेसियों ने गीता भवन चौराहे पर माैन प्रदर्शन किया, लेकिन तख्तियों पर लिखे स्लोगन से सरकार पर जमकर प्रहार किया। कांग्रेसियों ने मध्य प्रदेश में भी बेटियों की सुरक्षा को लेकर जमकर लामबंदी की और हाथरस पीड़िता को जल्द न्याय दिलवाने की मांग की।

कांग्रेस नेता देवेंद्र यादव समेत अन्य लोग धरने में शामिल हुए।

रात में भी मोमबत्ती लेकर मार्च किया
महिलाओं पर अत्याचार को लेकर रविवार रात महिला कांग्रेस ने बड़ी संख्या में मोमबत्ती लिए नेहरू प्रतिमा से गांधी प्रतिमा तक पैदल मार्च निकाला। मार्च के दौरान नारेबाजी कर रहीं महिलाओं ने हाथरस में आरोपियों को फांसी देने की मांग करते हुए दोषी अधिकारी-कर्मचारियों को भी सख्त सजा देने की मांग की।

हाथ में तलवार लिए विरोध में चलीं महिलाएं और युवतियां।

बेटी आज घर में ही सुरक्षित नहीं
मार्च के दौरान हाथों में तलवार लिए महिलाओं ने कहा कि हाथरस में एक युवती के साथ घिनौना काम किया गया और उसकी हत्या कर दी गई। पुलिस-प्रशासन ने रातोरात युवती का शव जंगल में अंतिम संस्कार कर दिया। परिवार वाले बेटी का चेहरा तक नहीं देख पाए। 3 दिन तक पूरे परिवार को बंधक बनाकर रखा गया। अपराधियों को पहना दी गई। आखिर यह कैसी कानून व्यवस्था थी। महिलाओं ने योगी सरकार सहित केंद्र सरकार को भी आड़े हाथ लेते हुए कहा कि जहां एक और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ संदेश केंद्र सरकार देती है। वहीं, बच्चियों को सुरक्षित नहीं रह पा रही है। अपने ही देश में है आज बच्ची घर से बाहर नहीं निकल सकती। वह तो घर में भी सुरक्षित नहीं है।

बच्चे भी मार्च में शामिल हुए।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

हाथरस गैंगरेप में पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए कांग्रेस सड़क पर धरने देने बैठी।

Related Posts