काेराेना से ठीक हुए मरीजों को परेशानी आने पर यहां मिलेगा इलाज, ओपीडी में आने वाले मरीज का एंडी बॉडी और रैपिड एंटीजन टेस्ट भी होेगा

पोस्ट कोविड-19 के लिए एमवाय अस्पताल में गुरुवार को नई ओपीडी का विधिवत शुभारंभ संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने किया। इस ओपीडी में पोस्ट कोरोना फॉलोअप की शुरुआत होगी। जिसमें कोरोना संक्रमण से ठीक हुए रोगियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। इन सभी रोगियों की एक ही जगह जांच करके उन्हें व्यवस्थित तरीके से उपचार के लिए विशेषज्ञ चिकित्सकों के पास भेजा जाएगा, ताकि उनका रोग आगे बढ़ने से रुके।

ओपीडी में जांच के बाद पेशेंट को संबंधित डॉक्टर के पास इलाज के लिए भेजा जाएगा।

कोविड के बाद स्वस्थ हुए रोगियों को किस तरह की परेशानियां आ रही हैं। उनका एनालिसिस कर डाटा भी एकत्रित किया जाएगा। कोरोना एक नई बीमारी होने से इसके बारे में इसके लक्षण, लंबे समय के दुष्परिणाम एवं विभिन्न अंगों पर इसके प्रभाव के बारे में विस्तृत अध्ययन भी संभव हो सकेगा, जिससे आने वाले समय में चिकित्सकों एवं आम जनता को इसके बचाव एवं लक्षणों के बारे में समुचित जानकारी मिल सकेगी।

कोविड से ठीक हुए सभी प्रकार के मरीजों को यहां इलाज मिलेगा।

कोविड पोस्ट ओपीडी को शुरुआत करने के पीछे का कारण बताते हुए संभागायुक्त ने कहा कि कोविड के मरीज में बहुत सी समस्याएं आती हैं। इसमें उनके लंग्स, लीवर, किडनी सहित कई अंग प्रभावित होते हैं। ऐसे पेशेंट के लिए अभी ऐसी कोई सुविधा नहीं है कि उसे एक ही स्थान पर उचित इलाज मिले सके। इसमें कोविड का पेशेंट जो निगेटिव आ चुका है और किसी भी प्रकार की समस्या से जूझ रहा है तो उसे यहां इलाज मिलेगा।

उन्होंने कहा कि यहां पर जितने भी ऐसे मरीज आएंगे सभी को इलाज मिलेगा। संभाग में करीब 31 हजार मरीज ठीक हुए हैं। यह एक स्पेशल ओपीडी है। एंडी बॉडी और रैपिड एंटीजन टेस्ट करवाने को लेकर कहा कि यह एक सुझाव है कि इससे हमें यह पता चल पाएगा कि मरीज में एंडी बॉडीज भी हैं। उनमें दोबारा पॉजिविट की संभावना है या नहीं, इसे देखते हुए ये टेस्ट किए जाएंगे।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

ओपीडी का शुभारंभ संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा की मौजूदगी में एमजीएम मेडिकल कॉलेज के सभागृह में किया गया।

Related Posts