किराने के वेयर हाउस में चोरी के बाद एक ने खरीदा लोडिंग वाहन, दूसरे ने पल्सर, बाकियों ने चोरी के रुपयों से किए शौक पूरे

क्राइम ब्रांच ने एरोड्रम पुलिस के साथ मिलकर चोरी की योजना बनाते चार चोरों को गिरफ्तार किया है। इन्होंने आधा दर्जन चोरी की बात कबूली है। कुछ समय पहले एरोड्रम क्षेत्र स्थित किराने के वेयर हाउस को भी इन्होंने ही दो अन्य साथियों के साथ मिलकर निशाना बनाया था। यहां से इन्होंने 8 लाख रुपए नकद सहित अन्य माल पर हाथ साफ किया था। रुपयों के बंटवारे के बाद एक ने लोडिंग वाहन खरीद लिया था, जबकि दूसरा पल्सर बाइक ले आया था। इसके अलावा अन्य ने मौत-मस्ती में रुपए खर्च कर दिए थे। पुलिस ने चोरी में शामिल इनके दो अन्य साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया है। इसके पास से अवैध हथियार और औजार सहित पल्सर और लोडिंग वाहन बरामद कर लिया गया है।

चोरी के रुपयों से बाइक का शौक पूरा किया।

क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि एरोड्रम क्षेत्र में बांगड़दा रोड पर कसम बाबड़ी के पास बैठकर कुछ लोग चोरी की योजना बना रहे हैं। उनके पास धारदार हथियार भी हैं। इस पर एरोड्रम पुलिस के साथ टीम ने घेराबंदी कर चार लोगों को पकड़ा। इन्होंने अपना नाम गोलू उर्फ पुष्पेंन्द्र पिता बालूराम भूरिया निवासी 110 सेक्टर ए चंदन नगर, रोहन पिता हीरालाल पटेल निवासी 234 सी नागिन नगर, पप्पू उर्फ रेवाराम पिता बाबूलाल राठौर निवासी हुकुम खेड़ी मराठी मोहल्ला, संजय पिता जगदीश पंचोली निवासी 20 सी नागिन नगर इंदौर होना बताया। पुलिस ने इनकी तलाशी ली तो इनके पास से एक कट्टा कारतूस के साथ, सरिया, पेचकस, छैनी, हथौड़ा सहित अन्य हथियार व औजार बरामद हुए। आरोपी रात में सूने घरों की रैकी कर चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले थे।

आरोपी पप्पू उर्फ रेवाराम।

साथी के साथ 8 लाख की चोरी की थी

आरोपियों ने बताया कि कुछ समय पहले उन्होंने अपने साथी गोलू उर्फ मोटा उर्फ लेखराज पिता संतोष वर्मा निवासी 126 सी नगीन नगर और नवीन प्रकाश उर्फ पाऊच पिता मुन्नालाल नरूले निवासी 405 सिद्धार्थ नगर काॅलोनी गांधी नगर के साथ एरोड्रम क्षेत्र के छोटा बांगड़दा रोड स्थित एक किराने के वेयर हाउस से करीब 8 लाख रुपए नकद, तीन चांदी के सिक्के और एक वेब कैमरा चोरी किया था। आरोपी रोहन पिता हीरालाल के हिस्से में 3 लाख रुपए आए थे, जिससे उसने एक लोडिंग वाहन खरीद लिया था। वहीं आरोपी गोलू उर्फ पुष्पेंन्द्र के हिस्से में करीब 1.5 लाख रुपए आए थे, जिससे उसने एक पल्सर खरीद ली थी। बाकी आरोपी संजय, पप्पू, नवीन, गोलू उर्फ मोटा उर्फ लेकराज के खाते में 45-45 हज़ार रुपए आए थे, जिसे इन्होंने खर्च कर दिए। पुलिस ने गोलू उर्फ पुष्पेंन्द्र और रोहन के कब्जे से चोरी के पैसों से खरीदी लोडिंग पिकअप और पल्सर गाड़ी बरामद कर ली है। आरोपियों ने 6 से 7 नकबजनी की वारदात की बात कबूली है।

आरोपी रोहन।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

चोरी के रुपयों से खरीदे लोडिंग वाहन को पुलिस ने जब्त किया।

Related Posts