खुशिया मनाओं आया मेरा यीशु, गाकर मनाया ईसा मसीह का जन्मोत्सव, गले मिलकर दी शुभकामनाएं

वो मुक्ति संदेश लेकर आया है, आया है मेरा यीशु आया है। खुशियां मनाओ मेरा यीशु आया है। 25 दिसंबर की सुबह शहर के सबसे पुराने सेंट जॉन चर्च फालका बाजार में यही गीत गूंज रहे थे। फादर बिल्सन ने चर्च में आए सभी लोगों को प्रार्थना कराई। मुरार सेंट पॉल चर्च में भी प्रार्थना हुई। साथ ही केक काटकर बच्चों में वितरित किया गया। पूरे शहर में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ क्रिसमस मनाया गया है। इससे पहले यीशु के जन्म पर 24 दिसंबर की रात को भी चर्च में प्रार्थना की गई थी और कैरोल गीत गाए गए थे।

आर्कषक झांकी तो लगीं पर उन्हें छू नहीं पाए

प्रभु यीशु के जन्मदिवस के अवसर पर शहर की सभी चर्च पर शुक्रवार को मेला सा लगा दिखा है। गौशाला में किस तरह यीशु का जन्म हुआ इसकी आर्कषक झांकी लगाई गई थीं। इस बार कोविड गाइड लाइन के चलते लोगों ने यीशु के दर्शन तो किए, लेकिन उनको छू नहीं पाए। कोरोना गाइडलाइन का पूरा पालन किया गया है। साथ ही चर्च में भी आने वाले मास्क पहने नजर आए हैं।

पहली बार रात को होने वाले कार्यक्रम शाम को हुए

ऐसा इतिहास में पहली बार हुआ है जब चर्च में रात को 12 से 1 बजे बीच यीशु जन्मोत्सव के कार्यक्रम शाम को 7 से रात 9 बजे के बीच हुए हैं। 24 दिसंबर की रात को कर्फ्यू समय 10 बजे से पहले ही सारे कार्यक्रम पूरे कर लिए गए थे। रात को भी इसी तरह प्रार्थना और कैरोल गीत गाए थे।

फालका बाजार चर्च परिसर के बाहर लगा मेला

चर्च के बाहर सजीं फूलों की दुकान

एडवोकेट और वरिष्ठ सदस्य फालका बाजार चर्च राजू फ्रांसिस ने बताया कि शुक्रवार को सुबह से ही चर्च परिसर के बाहर फूल वालों की दुकानें सजी थीं। केक और उपहार के काउंटर सजाए गए थे। एक मेला जैसा माहौल था। हर तरफ प्रभु यीशु के जन्म उत्सव को हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा था

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

फालका बाजार चर्च में प्रभु यीशु की झांकी देखने और फादर से आशीर्वाद लेते हुए

Related Posts