ग्वालियर में पीएम मोदी का पुतला फूंका, विदिशा में कांग्रेस-भाजपा कार्यकर्ता हुए आमने-सामने

किसानों के मंगलवार को भारत बंद के मद्देनजर मध्य प्रदेश भी में सुरक्षा व्यवस्था लगाई गई है। प्रदेश में व्यापारी संगठनों ने समर्थन नहीं दिया है, लेकिन कांग्रेस इसके समर्थन में आ गई है। इंदौर और भोपाल में बाजार खुल गए हैं। उज्जैन में कांग्रेसियों ने बंद के समर्थन में रैली निकाली। हल्की बहस भी हुई। कई शहरों में पुलिस अलर्ट पर है। ग्वालियर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पीएम मोदी का पुतला फूंका। डबरा विधानसभा में किसानों के समर्थन में उतरे कांग्रेसियों ने अग्रसेन चौराहे पर पुतला फूंका। विदिशा में भाजपा- कांग्रेस राष्ट्रव्यापी बंद को लेकर आमने-सामने हो गई। कांग्रेस ने किसानों के समर्थन में की बाजार बंद की अपील। वहीं, भाजपा बाजार खुलवाने सड़कों पर उतरी।

इंदौर में भी पूर्व मंत्री सज्जनसिंह वर्मा बाइक रैली निकालकर छावनी मंडी बंद कराने पहुंचे। इंदौर में दिग्विजय सिंह मंडी बंद कराने पहुंचे। इन्दौर छावनी अनाज मंडी में विधायक जीतू पटवारी, विशाल पटेल, अश्विन जोशी सहित 200 से ज्यादा कांग्रेस पंहुचे। कांग्रेसियों को देखते हुए लोगों ने अपनी दुकानों के शटर गिरा दिए। यहां नेताओं ने करीब आधे घंटे तक धरना दिया।

दिग्विजय बोले- बिना चर्चा के काला कानून लाद रहे

दिग्विजय सिंह ने कहा कि एक तरफ हैं गरीब मजदूर, किसान, हम्माल और छोटा कर्मचारी। वहीं, दूसरी ओर वह विचारधारा, जो इन लोगों का शोषण करती आई है। एक तरफ गरीब है दूसरी ओर सूट बूट की सरकार।जीएसटी आई, तो छोटा व्यापारी परेशान हो गया। अब यह बिना किसी चर्चा के काला कानून किसानों और मजदूरों के खिलाफ लाया गया है।

जीतू पटवारी ने कहा कि देश और किसानों को यह बताया जा रहा है कि मोदी जी ने जो निर्णय लिया, वह देश हित में लिया और मोदी जी पर भरोसा करो। देश ने मोदी जी पर भरोसा तो किया था, नोटबंदी के समय, दो करोड़ रोजगार देने पर, देश ने कोविड के पहले और बाद में भी मोदी जी पर भरोसा किया। मोदी जी पास कहां हुए, जो देश उन पर भरोसा करे।

किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष अनिल यादव से विशेष बातचीत उन्होंने कहा कि अगर सरकार नहीं मानी, तो आंदोलन को बड़ा रूप दे दिया जाएगा प्रदेश में हर 4 किलोमीटर पर जाम लगाया जाएगा सरकार को हमारी बात माननी ही होगी। अब कानून संशोधन का कोई मामला ही नहीं है।

ग्वालियर- यहां कांग्रेसियों ने बंद का समर्थन करते हुए सुबह से ही सड़क पर निकलना शुरू कर दिया। मंगलवार को वैसे ही बाजार बंद रहते हैं। बंद की घोषणा के बाद पूरी तरह बाजार बंद रहे। सड़क पर सवारी वाहन या अन्य वाहन आम दिनों की तुलना में कम ही दिखे। कांग्रेस और सीटू के बंद को ध्यान में रखते हुए करीब 700 पुलिस जवान और अफसरों को सुरक्षा में लगाया गया।

ग्वालियर में कांग्रेसियों ने रैली निकालकर बाजार कराया।

भोपाल : स्पेशल फोर्स के साथ बम निरोधक दस्ता भी तैनात
भोपाल में विशेष सुरक्षा बल और बम निरोधक दस्ता तक तैनात कर दिया है। पुलिसकर्मियों की मार्केट के पास तैनाती की गई है, ताकि जबरन बंद कराने वालों पर कार्रवाई की जा सके। अतिरिक्त सुरक्षा के लिए विशेष सुरक्षा बल भी लगाया गया है। इधर, बम निरोध दस्ता दो दिन से रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और भीड़ भाड़ वाली जगह पर जांच कर रहा है, ताकि शांति भंग न हो सके। किसानों के समर्थन में सिख समुदाय ने बोर्ड ऑफिस से ज्योति टॉकीज चौराहे तक रैली निकाली।

भोपाल में सिख समाज के लोगों ने रैली निकाली।
भोपाल के जेके रोड स्थित मिनाल मॉल में दुकानें सुबह 8 बजे से खुलना शुरू हुईं।

इंदौर : सब्जी मार्केट खुला, पूर्व मंत्री पहुंचे बंद कराने
इंदौर. बंद का यहां कुछ ज्यादा असर नजर नहीं आ रहा। यहां आलू, फ्रूट और सब्जी में कामकाज आमदिनों की तरह ही शुरू हो चुका है। किसानों के फल-सब्जी का लेनदेन अलसुबह से ही चल रहा है। उधर, कांग्रेसी नेता-कार्यकर्ता छावनी समर्थन में अनाज मंडी में धरना देकर कानून वापस लेने की मांग करने की तैयारी में हैं। आप पार्टी भी दोपहर में राजबाड़ा पर बैठेगी। सुबह करीब 10 बजे कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल और जिला अध्यक्ष सदाशिव यादव कार्यकर्ताओं के साथ बाइक रैली के रूप में छावनी अनाज मंडी पहुंचे। यहां नारेबाजी भी की, लेकिन इन्हें संभालने के लिए तीन थानों का बल मौजूद है।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अनाज मंडी बंद कराने पहुंचे।

उज्जैन : शहर बंद, लेकिन गुटों में बंटी दिखी कांग्रेस
यहां कांग्रेस ने बाइक से रैली निकाली। अभी तक शांतिपूर्ण प्रदर्शन चल रहा है। शहर में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। कुछ देर के लिए बाजार बंद रहे, लेकिन सुबह 11 बजे के बाद बाजार आम दिनों की तरह खुलने लगा। सुबह उज्जैन में कांग्रेसी कई गुटों में बंटे होने से प्रदर्शन मात्र औपचारिकता बनी। कोई गिरफ्तारी देने को तैयार नहीं दिखा।

जबलपुर : बाजार खुला, कांग्रेस और आप पार्टी निकालेगी रैली
यहां भी बाजार आम दिनों की तरह खुलने लगे हैं। कांग्रेसियों और आप पार्टी द्वारा कुछ देर में प्रदर्शन कर बंद कराया जा सकता है। दोपहर दो बजे के आसपास राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन भी सौंपा जाएगा। बंद का असर फिलहाल नहीं दिख रहा है।

जबलपुर में सुबह से खुले हैं पेट्रोल पंप व दुकानें, सड़कों पर भी आवाजाही सामान्य।
रायसेन रोड पर गोविंदपुरा में दुकानें खुली रहें, इसलिए पुलिस बल तैनात किया गया है।

255 मंडियां खुली रहेंगी
सरकार की मंशा है कि भारत बंद के आव्हान के दिन 8 दिसंबर को भोपाल समेत प्रदेश की सभी 255 मंडियां संचालित होती रहें। हालांकि, किसानों के समर्थन में कांग्रेस ने आह्वान किया है और यह मध्यप्रदेश में बंद को लेकर पहला समर्थन है। भाजपा की सरकार होने से अब तक बंद के प्रभावी होने की कम उम्मीद थी, लेकिन पॉलिटिकल एंट्री होने के बाद स्थितियां बदल सकती हैं।

इनका समर्थन नहीं
कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट), किराना व्यापारी महासंघ, एफएमसीजी, राजधानी कपड़ा व्यापारी महासंघ, मिष्ठान विक्रेता संघ भोपाल और मध्य प्रदेश फेडरेशन कॉमर्स इंडस्ट्रीज ने बंद के पक्ष में नहीं हैं, जबकि गल्ला मंडी संघ किसान के समर्थन में है, लेकिन मंडियों को बंद नहीं कर रहा।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

इंदौर में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह समेत कई कार्यकर्ता छावनी अनाज मंडी पहुंचे।

Related Posts