घर-अस्पताल के लिए प्लॉट दिखा डॉक्टर से 35 लाख रुपए ठगे, न्यूज पेपर में छपी सूचना से खुला राज

शहर में एक डॉक्टर को घर और अस्पताल के लिए प्लॉट दिखाकर सरकारी टीचर ने 35 लाख रुपए ले लिए। जब प्लॉट की रजिस्ट्री से पहले आम सूचना अखबारों में छपवाई, तो प्लॉट के कई दावेदार खड़े हो गए। इस पर डॉक्टर ने रुपए वापस मांगे, तो आरोपी शिक्षक मुकर गया। इसकी शिकायत गोला का मंदिर थाने में की गई है। पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

गोला का मंदिर थाना क्षेत्र स्थित पिंटो पार्क निवासी राजेन्द्र पाल सिंह सेंगर डॉक्टर हैं। कुछ समय पूर्व उन्होंने अच्छी जगह मकान और अस्पताल बनाने की इच्छा पड़ोस में रहने वाले शिवकुमार भदौरिया से जताई थी। शिवकुमार पेशे से सरकारी टीचर हैं। उन्होंने झांसी रोड पर पारस विहार में प्लॉट दिखाया था। शिक्षक ने प्लॉट को किसी राजेन्द्र अग्रवाल के नाम बताया था। इसके बाद डॉक्टर के घर पर ही बैठकर एग्रीमेंट किया 35 लाख रुपए ले लिए। पांच लाख रुपए रजिस्ट्री के समय लेना थे। मामले में कुछ दिन पहले राजेन्द्र पाल सिंह ने रजिस्ट्री से पहले न्यूज पेपर में प्लॉट के संबंध में आम सूचना प्रकाशित करवाई।

आम सूचना छपते ही प्लॉट के कई दावेदार खड़े हो गए। इस पर डॉक्टर ने शिक्षक से रुपए वापस मांगे, लेकिन शिक्षक ने देने से मना कर दिया। डॉक्टर और उनके बीच विवाद भी हुआ। आखिर में राजेन्द्र पाल सिंह ने समाज के लोगों को भी बैठाया, लेकिन कुछ रुपए लौटाने के बाद शिवकुमार फिर पलट गया। तंग आकर पीड़ित ने मामले की शिकायत गोला का मंदिर थाना में की है, क्योंकि पूरा लेन-देन उनके पिंटो पार्क स्थित घर पर हुआ था।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

Related Posts