जबलपुर में पारे में गिरावट, अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस जाने का अनुमान, अगले चार दिनों में और गिरेगा पारा

सर्दी के सीजन में जबलपुर में मौसम का मिजाज फिलहाल नरम-गरम बना हुआ है। तीन दिन तक ऊपर की ओर चढ़ रहा पारा अब नीचे जाने लगा है। शुक्रवार की रात न्यूनतम पारा एक बार फिर सात डिग्री सेल्सियस से नीचे चला गया। एक दिन पहले 7.2 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया पारा गिरकर 6.4 पर आ गया है। उत्तर भारत में हुई बर्फबारी और वहां से आ रही ठंडी हवाओं ने जबलपुर में भी गलन बढ़ा दी है। मौसम विभाग के मुताबिक साल की विदाई शीतलहर से होगी।

हवाओं ने घर के अंदर कराया गलन का अहसास
उत्तर भारत में हाड़ कंपा देने वाली ठंड का असर जबलपुर में भी दिखने लगा है। हालांकि धूप निकलने की वजह से दिन में ठंड से राहत मिल जा रही है। शनिवार काे सुबह से चल रही हवाओं ने घर के अंदर पूरे दिन गलन का अहसास कराया। शहर में न्यूनतम पारा सामान्य से चार डिग्री सेल्सियस नीचे है। आर्द्रता भी 94 प्रतिशत सुबह की दर्ज हुई। इसकी वजह से भी ठंड का अहसास बना हुआ है। हालांकि धूप निकलने से दिन का तापमान 25 डिग्री सेल्सियस तक जाने अनुमान है। एक दिन पूर्व की तुलना में ये डेढ़ डिग्री सेल्सियस कम रहेगा।
उत्तर भारत में पड़ रही बर्फबारी का दिखेगा असर
पश्चिमी विक्षोभ का असर कम होते ही ठंड अपना असर दिखाएगी। अगले चार दिनों में ठंड का प्रकोप देखने को मिलेगा। मौसम विभाग के मुताबिक साल की विदाई शीतलहर से होगी। 30 और 31 दिसंबर को सबसे सर्द रात रहने का अनुमान है। इसकी वजह उत्तर भार तें हुई बर्फबारी बताई जा रही है। इसी के साथ दिन का तापमान भी गिरेगा।
मौसम में उतार-चढ़ाव की बड़ी वजह
मौसम विभाग के मुताबिक इस बार मौसम में उतार-चढ़ाव की एक बड़ी वजह वेस्टर्न डिस्टरबेंस की फ्रिक्वेंसी है, जो इस बार अधिक है। वहीं शाम को हवा का रुख दक्षिणी पूर्व से बदल कर उत्तर-पूर्वी होने का ट्रेंड बना हुआ है। मैदानी इलाकों में रात का तापमान सामान्य से 4.5 से 6.4 डिग्री तक कम हाे ताे शीतलहर चलना माना जाता है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

ग्वारीघाट में सुबह इस तरह दिखा कोहरा

Related Posts