‘धाकड़’ हिंदी की पहली ऐसी फिल्‍म, जो बैतूल में शूट होगी, कंगना व अर्जुन रामपाल आएंगे बैतूल और सारणी के आसपास कोयला खदानों में करेंगे शूट

अब कोयले के तस्कर सावधान हो जाएं। अब उनकी मनमानी नहीं चलेगी। उनके इस गोरखधंधे पर लगाम लगाने आ रही है इंटेलिजेंस ऑफिसर कंगना रनौत। बता दें कि कंगना रनौत और अर्जुन रामपाल अभिनीत फिल्म ‘धाकड़’ की शूटिंग बैतूल में होने जा रही हैं। वहां और उसके आस पास के कोयला खदानों में फिल्‍म की शूटिंग होगी। बैतूल राज्‍य का दक्षिणी इलाका है। भोपाल से तकरीबन 250 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। वहां कोयला के तस्कर बड़ी तादाद में हैं। यहां के कोयले को इंदौर, भोपाल मंडीदीप समेत बाकी इलाकों में खपाया जाता है। फिल्म कंगना इंटेलीजेंस अफसर बनकर उन तस्करों से लोहा लेती नजर आएंगी। फिल्‍म में कोल माइन का अहम प्लॉट है।‘ ‘धाकड़’ हिंदी की पहली फिल्म जो बैतूल में शूट होगी। प्रस्तावित फिल्म की तकनीकी टीम ने कोयला खदानों और आसपास के क्षेत्र का फिल्म निर्माण करने वाली टीम के द्वारा दौरा किया।

फिल्म निर्माता और प्रोड्क्शन टीम ने फिल्म निर्माताओं की टीम ने सारनी कलेक्टर राकेश सिंह से फिल्म की शूटिंग के संबंध में की मुलाकात।

फिल्म निर्माताओं की टीम ने कलेक्टर राकेश सिंह से मुलाकात की एवं फिल्म शूटिंग के लिए प्रस्तावित तैयारियों की जानकारी ली। कलेक्टर राकेश सिंह ने उक्त टीम को आश्वस्त किया कि आवश्यक अनुमतियां एवं औपचारिकताएं पूर्ण होने के बाद फिल्म शूटिंग के लिए जिला प्रशासन द्वारा पूरी तरह से आवश्यक सहयोग प्रदान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिले में फिल्म निर्माण से जहां एक ओर यहां की खूबसूरती फिल्मी दुनिया में प्रदर्शित होगी एवं अन्य फिल्म निर्माता फिल्म शूटिंग के लिए आकर्षित होंगे, वहीं दूसरी ओर जिले में टूरिज्म को भी बढ़ावा मिलेगा।

सारणी में फिल्म की लोकेशंस देखती फिल्म यूनिट।

जील एंटरटेनमेंट के लाइन प्रोड्यूसर जुल्फिकार अली ने बताया कि उनकी टीम ने कलेक्टर राकेश सिंह से मुलाकात की है एवं फिल्म निर्माण से संबंधित आवश्यक जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि फिल्म के प्रोड्यूसर सोहेल मलकाई एवं दीपक मुकुट हैं, डायरेक्टर रजनीश घई हैं। फिल्म में मुख्य कलाकार के रूप में कंगना रनौत, अर्जुन रामपाल, दिव्या दत्ता इत्यादि शामिल हैं।

बैतूल में फिल्म की शूटिंग के लिए लोकेशंस फाइनल करती फिल्म यूनिट।

यहां फंस रहा पेंच

फ़िल्म धाकड़ के शूटिंग में एक पेंच फंस रहा है। पेंच लोकेशन या अनुमति का नहीं बल्कि कलाकारों और पूरी यूनिट को ठहराने का है क्योंकि यहां ठहरने के लिए होटल्स नहीं है। जिसके चलते निर्माताओं के सामने सबसे बड़ी समस्या यही है। जो फ़िल्म के सारणी में शूटिंग का मजा किरकिरा कर सकती है। 15 दिन होने वाली शूटिंग के लिए रुकने ठहरने की समस्या अभी मुख्य है।

बैतूल में बनने वाली फिल्म कोयले की तस्करी पर आधारित होगी. जिसमें कंगना इंटेलीजेंस अफसर की भूमिका निभा रही है। बता दें कि जिले का सारणी क्षेत्र ना केवल वन संपदा और प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर है, बल्कि यहां काला सोना यानी कोयला प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। लेकिन अभी तक किसी भी प्रकार की अनुमति मांगने के लिए आवेदन नहीं दिया गया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

कंगना रनौत और अर्जुन रामपाल।

Related Posts