नरोत्तम टीका लगवाने पीपुल्स अस्पताल पहुंचे; डॉक्टरों ने कहा- ट्रायल नहीं किया जा सकता, उनके घर में पॉजिटिव आ चुके हैं

वैक्सीन के ट्रायल को लेकर मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा खुद वॉलंटियर बन गए हैं, लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें टीका लगाने से इनकार कर दिया। डॉक्टरों का कहना है कि उनके घर में कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। ऐसे में गाइड लाइन के अनुसार उन्हें टीका नहीं लगाया जा सकता है। काउंसलिंग के बाद उन्हें इसकी जानकारी दे दी है। मेडिकल कॉलेज में चल रहे ट्रायल के प्रिंसिपल इन्वेस्टीगेटर डॉ. राघवेंद्र गुमास्ता ने बताया कि गृहमंत्री पीपुल्स में वैक्सीन का ट्रायल कराने पहुंचे थे, हमने उनकी काउंसलिंग भी की थी।

इससे पहले नरोत्तम मिश्रा ने कहा था कि मैं लोगों की भलाई के लिए खुद टीका लगवाने जा रहा हूं। उन्होंने अस्पताल में जाकर फॉर्म भी भरा था। इससे एक दिन पहले ही उन्होंने लोगों को इसके लिए आगे आने को कहा था। अब तक एक सप्ताह में सिर्फ 45 लोगों ने ही टीका लगवाया है। अस्पताल प्रबंधन को पहले दिन उम्मीद थी कि एक दिन में कम से कम 50 लोग सामने आ जाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। कुल दो हजार लोगों पर ट्रायल के लिए टीका लगाया जाना है।

7 दिन में केवल 45 वॉलंटियर ही आगे आए

इस वक्त देश में स्वदेशी कोरोना वैक्सीन का थर्ड फेस का ट्रायल चल रहा है। भोपाल में भी ट्रायल किया जा रहा है, लेकिन यहां पिछले 6 दिन में सबसे कम केवल 45 वॉलंटियर ही को वैक्सीन के ट्रायल के लिए आए हैं, जबकि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में सबसे ज्यादा वॉलंटियर ट्रायल के लिए सामने आए हैं। अलीगढ़ में यह संख्या 800 से भी ज्यादा है।

तीसरे फेज का चल रहा ट्रायल

इस वक्त देश में कोरोना वैक्सीन के थर्ड फेस का ट्रायल चल रहा है। भोपाल में भी को वैक्सीन के ट्रायल के लिए वॉलंटियर्स सामने आ रहे हैं, लेकिन इनकी संख्या सबसे कम है। अब उम्मीद की जा रही है कि बाकी लोग भी गृहमंत्री का अनुसरण करते हुए ट्रायल के लिए सामने आएंगे।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पीपुल्स अस्पताल पहुंचकर कोरोना वैक्सीन के ट्रायल के लिए फार्म भरा, लेकिन डॉक्टरों ने उन पर ट्रायल करने से मना कर दिया।

Related Posts