निगमायुक्त ने कहा- शहर में लगे डस्टबिन की धुलाई हो, वाहन ड्राइवर यदि बिना बताए अवकाश पर गया या मोबाइल बंद रखे तो उस दिन का वेतन काट लें

स्वच्छता में पांचवीं बार नंबर वन आने के लिए इंदौर नगर निगम ने कवायद शुरू कर दी है। इसकी एक झलक मंगलवार सुबह साढ़े 7 बजे देखने को मिली। निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने नेहरू स्टेडियम में सभी नियंत्रणकर्ता अधिकारियों, वाहन सुपरवाइजर और अन्य अधिकारियों के साथ सफाई व्यवस्था की समीक्षा बैठक की। उन्होंने बैठक में कड़े तेवर दिखाए और सफाई को लेकर किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं करने की हिदायत दी। सभी को अपनी जिम्मेदारी सही तरीके से करने की बात कही। कचरा गाड़ी चलाने वाले ड्राइवरों को लेकर कहा कि गाड़ी के ड्राइवर समय पर ड्यूटी पर आएं। यदि किसी ड्राइवर को अवकाश लेना है तो वह एक दिन पहले बताए। यदि वह उचित कारण के बिना या बिना बताए अवकाश पर रहता है या अपना मोबाइल बंद रखता है तो उसका उस दिन का वेतन काटा जाए।

आयुक्त पाल ने समीक्षा बैठक में अधिकारियों से कहा कि जिसकी जो जिम्मेदारी है वह उसे अच्छी तरह से निभाए। अतिरिक्त जोनल अधिकारी सुबह अपने जोन क्षेत्र में सफाई के अतिरिक्त, उद्यानों, डिवाइडर का निरीक्षण कर उनकी भी सफाई पर ध्यान रखें। जोन क्षेत्र में जहां पर भी डीपी, ट्रांसफर या डस्टबिन हो उनके आसपास वाले स्थान को पूरी तरह से पक्का करवाएं। कच्चा स्थान रहने पर वहां कचरा पाॅइंट बन जाता है। पौधे और घास उग जाती है, जिससे गंदगी अलग ही दिखाई देती है।

निगमायुक्त पाल ने सभी को अपनी-अपनी जिम्मेदारी ठीक तरीके से करने के लिए कहा।

पाल ने कहा कि शहर में लगे डस्टबिन की धुलाई जरूरी है। खासकर व्यवसायिक क्षेत्रों में तो यह अत्यधिक जरूरी है। इसके अलावा यूरिनल की सफाई पर भी ध्यान दें। सफाई के साथ ही गीला-सूखा कचरा अलग-अलग प्राप्त हो रहा है कि नहीं, वाहन समय पर निकल रहे हैं कि नहीं, उसकी आईडब्ल्यूएम से रिपोर्ट लें। ड्राइवर और हेल्पर यूनिफॉर्म में रहें, डिप्लोमेट चार्ट अनुसार कर्मचारी कार्य कर रहे हैं कि नहीं यह सब काम भी अतिरिक्त जोनल अधिकारी की जिम्मेदारी है।

वाहन सुपरवाइजर को कहा कि आपका काम केवल सुबह यह देखना नहीं है कि गाड़ी निकल गई है। गाड़ी समय पर निकले, उसमें ड्राइवर और हेल्पर यूनिफॉर्म में रहें। कचरा संग्रहण वाहन समय पर निकले, उसमें कचरा अलग-अलग हो। यह भी देखें कि वाहन का साउंड सही चल रहा है, गाड़ियां किन पाॅइंट पर रुकती है, बिना कारण के किसी भी पॉइंट पर गाड़ियां नहीं रुके यह भी सुनिश्चित करें। गाड़ियों की धुलाई, डेंटिंग, पेंटिंग के लिए ध्यान रखें। गाड़ियों की धुलाई का रोस्टर बनाएं, रोस्टर अनुसार गाड़ियां धुल रही हैं कि नहीं यह भी देखें। सभी 10 जीटीएस पर गाड़ियों की धुलाई की व्यवस्था भी बनाएं।

पाल ने कहा कि शहर में 4 स्थानों पर गाड़ियों के पंक्चर बनाने की व्यवस्था की जा रही है। साथ ही उन स्थानों से जहां पर गाड़ी पंक्चर हुई है, तत्काल उसके सुधार के लिए वाहन भेजे जाएंगे। गाड़ी के ड्राइवर समय पर ड्यूटी में आएं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

निगमायुक्त ने सुबह-सुबह नेहरू स्टेडियम में बैठक की।

Related Posts