नेता प्रतिपक्ष मोहम्मद सगीर और पूर्व अध्यक्ष सुरजीत सिंह चौहान को चुनाव लड़ने के लिए ढूंढने होंगे नए क्षेत्र; उनके वार्ड महिला आरक्षण में गए

भोपाल के नगर निगम वार्डों के आरक्षण की प्रक्रिया पूरी हो गई है। समन्वय भवन में वार्डों के आरक्षण प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया गया। जानकारी के मुताबिक, कुल 85 वार्डों में से 50 सामान्य जिसमे 25 महिला आरक्षित होंगी। ओबीसी 21 सीटों में से 11 महिलाओं के लिए आरक्षित हुई है। 02 अनुसूचित जनजाति में से 1 महिला के लिए आरक्षित होंगी और 12 अनुसूचित जाति में से 06 महिलाओं के लिए रिज़र्व होंगी।

शहर में किस वार्ड से कौन प्रत्याशी चुनाव लडेगा। कौन सा वार्ड आरक्षित रहेगा और किस वार्ड से चुनाव लडने के लिए महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी। इसका निर्णय हो चुका है। वार्डों में आरक्षण 2011 की जनसंख्या के आधार पर किया गया है। वार्ड आरक्षण प्रक्रिया शुरू भोपाल में कुल 85 वार्ड हैं। इन सभी नगर निगम वार्ड आरक्षण प्रक्रिया शुरू कर दी गई। वार्ड आरक्षण प्रक्रिया में अनुसूचित जाति के कुल 12 वार्ड आरक्षित किए गए हैं। वहीं अनुसूचित जनजाति के लिए कुल 2 वार्ड आरक्षित किए गए है। वही अनारक्षित में कुल 50 वार्ड और ओबीसी के लिए 21 वार्ड आरक्षित हुए।

भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया और निगम आयुक्त समेत तमाम अधिकारी और वार्ड पार्षद मौजूद रहे।

नेता प्रतिपक्ष सगीर समेत कृष्ण मोहन सोनी को चुनाव के लिए ढूंढना होगा नया क्षेत्र

कांग्रेस पार्षद गुड्डू चौहान का वार्ड 46, नेता प्रतिपक्ष मोहम्मद सगीर का वार्ड 43, सामान्य महिला के लिए आरक्षित कर दिया गया है। वहीं कांग्रेस पार्षद अमित शर्मा का वार्ड 31 महिला हुआ। पूर्व नगर निगम अध्यक्ष सुरजीत सिंह चौहान का वार्ड भी महिला आरक्षित हो गया है। वहीं एमआईसी सदस्य कृष्ण मोहन सोनी का वार्ड भी महिला आरक्षण में चला गया है।

2011 की जनगणना को माना आधार बनाया
वार्ड आरक्षण के लिए पिछली बार की तरह 2011 की जनगणना को आधार माना जाएगा। अजा व अजजा के वार्डों की संख्या नगरीय क्षेत्र में इनकी आबादी के अनुपात से तय होती है। इसके बाद इन वर्ग की अधिकतम आबादी के वार्डों को संबंधित वर्ग के लिए आरक्षित किया जाता है, इसलिए पिछले बार के ही दो वार्ड अजजा में और 12 वार्ड अजा वर्ग में आरक्षित होंगे। इसके बाद 85 में से 25% यानी 21 वार्ड ओबीसी के लिए आरक्षित किया गया। इसमें नियम यह है कि ओबीसी के लिए आरक्षित वार्डों को छोड़कर पिछली बार ओपन रहे 21 वार्ड आरक्षित किए जाते हैं।

भोपाल के समन्वय भवन में वार्ड आरक्षण प्रक्रिया पूरी की गई।

नगर पालिका निगम भोपाल आरक्षण

  • सामान्य वर्ग- 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 12,13, 14, 15, 17, 19, 20, 21, 22, 24, 29, 32, 33, 34, 35, 38, 39, 40, 41, 42, 43, 44, 46, 51, 52, 54, 56, 58, 62, 64, 66, 68, 69, 70, 71, 73, 74, 75, 78, 79, 84, 85 (वार्ड नंबर)
  • महिला वर्ग- 79, 7, 3, 43, 21, 71, 74, 56, 38, 17, 2, 52, 35, 85, 75, 51, 20, 64, 33, 14, 32, 84,46,68 (वार्ड नंबर)
  • पुरुष- 1, 4, 5, 6, 12, 13, 15, 22, 24, 29, 34, 39, 40, 41, 42, 44, 54, 55, 58, 62, 66, 69, 70, 73, 78, 19 (वार्ड नंबर)
  • ओबीसी- 77,83,8,23,16,67,45,25, 57,82,31,18,61,37,9,36,30,27,80,65,72, (वार्ड नंबर)
  • महिला- 8 23 27 31 37 45 61 65 67 80 82 (वार्ड नंबर)
  • पुरुष- 9 16 18 25 30 36 57 72 77 83 (वार्ड नंबर)
  • एससी- 10,11,28,47,48,49,50,53,59,63,76,81 (वार्ड नंबर)
  • महिला- 10,11,47,50,69,81 (वार्ड नंबर)
  • पुरुष- 28,48,49,53,76 (वार्ड नंबर)
  • एसटी- 26, 60 (वार्ड नंबर)
  • महिला- 26 (वार्ड नंबर)
  • पुरुष- 60 (वार्ड नंबर)

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

भोपाल में नगर निगम आरक्षण प्रक्रिया पूरी हो गई है। निगम के कई बड़े नेताओं को अपने वार्ड बदलने पडेंगे क्योंकि उनके वार्ड महिला कोटे में चले गए हैं।

Related Posts