पहली बार बुजुर्ग, दिव्यांग और कोरोना मरीजों के लिए 7 दिन तक वोटिंग; 60 टीमें घर पर लेकर जाएंगी मतपेटियां

सांवेर विधानसभा उपचुनाव के लिए दो लाख 70 हजार से ज्यादा मतदाता वोट डालेंगे। वैसे ताे वाेटिंग 3 नवंबर काे है, लेकिन इस बार बुजुर्गों, दिव्यांगों और कोरोना मरीजों काे मतदान के लिए विशेष सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। गुरुवार से टीम ऐसे मतदाताओं के घर-घर जाकर मतदान कराया जाएगा। डाक मतपत्र के जरिए मतदान कराने की यह प्रक्रिया 29 अक्टूबर तक चलेगी। इसके तहत 80 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्गों, दिव्यांगों और कोरोना से पीड़ित मरीजों समेत कुल 2 हजार 128 मतदाता डाक मतपत्र से मतदान करेंगे।

कलेक्टर/ जिला निर्वाचन अधिकारी मनीष सिंह ने बताया कि इसके लिए 60 टीमें गठित की गई हैं। सुरक्षा के सभी इंतजाम समेत मतदान की गोपनीयता बनाए रखने के लिए भी प्रबंध किए गए हैं। डाक मतपत्र के जरिए मतदान की प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई जाएगी।

सांवेर विधानसभा क्षेत्र में 9 से लेकर 13 अक्टूबर तक इस तरह के मतदाताओं से सहमति फार्म घर-घर जाकर भराए गए थे। डिप्टी कलेक्टर अंशुल खरे ने बताया कि 80 वर्ष से अधिक आयु के एक हजार 483 मतदाताओं ने सहमति दी। इसी तरह 637 दिव्यांग और कोविड प्रभावित और संदिग्ध मरीजों में से 8 मतदाताओं ने सहमति दी। इसे मिलाकर कुल 2 हजार 128 मतदाताओं के द्वारा डाक मतपत्र के आधार पर मतदान की सहमति दी गई है। उन्होंने बताया कि कोरोना मरीजों से मतदान के लिए अलग से टीम बनाई गई है। इसमें डॉक्टर्स, पैरामेडिकल स्टाफ को रखा गया है।

कलेक्टर ने कहा कि मतदान केंद्रों पर कोविड से बचाव की व्यवस्था की है, जिससे मतदाता भयमुक्त होकर वोट डाल सकें। वोटर स्लिप का वितरण 23 से 28 अक्टूबर के बीच किया जाएगा। डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने सुरक्षा इंतजामों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि निर्वाचन गतिविधियों पर चौकस नजर रखी जा रही है। निगरानी के लिए 25-25 एसएसटी और एफएसटी दल क्षेत्र का लगातार भ्रमण कर रहे हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

सांवेर में सीधा मुकाबला भाजपा के तुलसी सिलावट और कांग्रेस के प्रेमचंद गुड्‌डू के बीच है।

Related Posts