पहले अश्लील चैट करती, फिर वीडियो दिखाकर ब्लैकमेल करती, उधारी में ड्रग्स देती, 5 दिन में दाम नहीं मिलता तो वसूलती थी 100% ब्याज

ड्रग्स वाली आंटी प्रीति जैन के फरार बेटे यश जैन की जिस गर्लफ्रेंड आफीन उर्फ तरन्नुम खान को विजय नगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है, उसने ना सिर्फ युवाओं को ड्रग्स का आदी बनाया, बल्कि कई लड़कियों को लाइव चैट के दौरान जिस्म की नुमाइश कर पैसे कमाने के तरीके भी सिखाए। पुलिस के मुताबिक, आफीन उर्फ तरन्नुम के मोबाइल में सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर कई पेज मिले हैं, जिसमें हजारों- लाखों फॉलोअर्स हैं। इन्हें पैसे देकर सब्सक्राइब करना पड़ता है। ये और अन्य लड़कियां देर रात लाइव चैट से जुड़कर जिस्म की नुमाइश करती थीं। अश्लील कंटेंट डालकर ये पेज पर लाइक और फॉलोअर्स बढ़वाती थीं।

उधारी में ड्रग्स देती और 100 % ब्याज वसूलती थी
सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार युवाओं को ड्रग्स की लत लगाने वाली आफीन धारी में भी ड्रग्स उपलब्ध करवाती थी। हालांकि तरन्नुम से उधारी में माल लेना बहुत मंहगा पड़ता था। यदि माल लेने के बाद दो से तीन दिन में रुपए नहीं मिलते थे तो तरन्नुम फिर डबल ब्याज वसूलती थी। यानी किसी ने यदि 1000 का माल लिया तो उसे सीधे 2000 चुकाने होते थे। यदि कोई युवक समय पर उसका रुपया नहीं देता तो वह रुपया वसूलने उसके घर तक पहुंच जाया करती थी। इस तरह से उसने कई युवकों के घर पर वह हंगामा तक कर चुकी है। हालांकि बदनामी के डर से कभी किसी ने उसकी शिकायत नहीं की।

आफीन यश की प्रेमिका है और उसी के कहने पर इस धंधे में शामिल हुई।

अश्लील चैट करती और फिर उन्हीं को बनाती थी शिकार
सूत्रों की माने तो आफीन पए कमाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती थी। वह उधार में ड्रग्स तो देती ही थी, रात में अश्लील चैट भी किया करती थी। युवाओं के साथ किए गए वीडियो चैट को वह सेव कर लिया करती थी, जो भी व्यक्ति उससे अश्लील चैट करता था, बाद में उन फोटो वीडियो के आधार पर वह उसे ब्लैकमेल कर रुपए मांगती थी। इस तरह से वह कई लोगों से लाखों रुपए ऐंठ चुकी है। बड़ी बात यह है कि उसे रुपए देने वालों में अधेड़ उम्र के लोगों की संख्या अधिक है। पुलिस को इस बारे में कई फोटो वीडियो आफीन के मोबाइल में मिले हैं। लेकिन अब तक कोई शिकायतकर्ता पुलिस के सामने नहीं आया है।

चश्मा, मास्क और नकली हेयर स्टाइल से छिपाती है पहचान
सूत्रों के मुताबिक, पुलिस ने ड्रग्स व सेक्स रैकेट से जुड़ी युवतियों की जानकारी जुटाई तो कई के फैन पेज होना पता चले। कई कॉलेज गोइंग और होस्टल की लड़कियां खुद के खर्च पूरे करने के लिए इस तरह की लाइफ स्टाइल से जुड़ी हैं। पहचान छिपाने के लिए ये चश्मा, मास्क और नकली हेयर स्टाइल का भी सहारा लेती हैं।

आंटी के बेटे यश को हथियार रखना भी पसंद है।

लड़कों से नफरत के कारण उन्हें देती थी नशा
आफीन ने पुलिस को बताया कि वह पारिवारिक झंझावतों के चलते ड्रग्स रैकेट से जुड़ी। पिता डॉक्टर थे। उन्हें लड़का चाहिए था, लेकिन मैं पैदा हो गई तो वे मां को प्रताड़ित करने लगे। मां पिता से अलग होकर ननिहाल में रहने लगीं। पिता के मां को छोड़ने और मां के ननिहाल चले जाने के बाद मेरे दिमाग में यह बात घर कर गई कि आखिर लड़कों में क्या बात है जो लड़कियों में नहीं। इसलिए वह हाईप्रोफाइल लोगों की पार्टियों में आने-जाने लगी और अपना वर्चस्व बनाने के लिए इस धंधे में उतर गई। उसने बताया कि बचपन से ही नफरत का शिकार होने के बाद उसे लड़कों से नफरत होने लगी, इसलिए उन्हें ड्रग्स के रैकेट में उतारना शुरू कर दिया।

प्रीति आंटी अब जेल में हैं।

एक और नाम मीरा
ड्रग्स मामले में पकड़ाई आफीन की रूममेट मीरा को पुलिस द्वारा निर्दोष मानते हुए छोड़ने पर भी सवाल खड़े होना शुरू हो गए हैं। सूत्रों की माने तो एक आला पुलिस अधिकारी के निर्देश पर मीरा को छोड़ा गया है, जबकि मीरा का ड्रग्स नेटवर्क भी आफीन से कम नहीं है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

आफीन ने सोशल मीडिया पर अलग-अलग पेज बना रखे थे, इन्हें पैसे देकर सब्सक्राइब करना पड़ता है।

Related Posts