पूर्व डीजी पुरुषोत्तम को अभी राहत नहीं; केंद्रीय प्रशासनिक अधिकरण ने निलंबन पर रोक लगाने से किया इनकार, सरकार को 4 हफ्ते में जवाब देना होगा

मध्य प्रदेश में पत्नी की पिटाई मामले में निलंबित डीजी रैंक के अफसर पुरुषोत्तम शर्मा को फिलहाल कोई राहत नहीं है। उनके निलंबन से केंद्रीय प्रशासनिक अधिकरण ने रोक लगाने से इनकार कर दिया है। हालांकि उन्होंने सरकार को एक नोटिस जारी किया है। इसमें उन्हें 4 हफ्ते का समय दिया गया है।

इससे पहले पुरुषोत्तम ने आईपीएस एसोसिएशन और डीजीपी को सख्त लहजे में एक पत्र लिखा था। उन्होंने कहा था कि थोड़ी-सी शर्म बची हो तो मुख्यमंत्री को ज्ञापन दें। अब तक कितने आईएएस और आईपीएस के आपत्तिजनक वीडियो आ चुके हैं, लेकिन आज तक कार्रवाई नहीं की गई।

निलंबन के खिलाफ याचिका लगाई थी

पुरुषोत्तम ने तर्क देते हुए केंद्रीय प्रशासनिक अधिकरण में निलंबन के खिलाफ याचिका लगाई थी। इस पर अधिकरण ने राज्य सरकार को नोटिस जारी कर एक महीने में जवाब देने को कहा गया है। याचिका में पुरुषोत्तम ने कहा था कि यह मामला उनको प्रताड़ित करने वाला है। यह न तो घरेलू हिंसा का केस है और न ही महिला उत्पीड़न का, बल्कि ये पुरुष प्रताड़ना का केस है। मैं फिर दोहराता हूं कि यह पुरुष प्रताड़ना का केस है। मेरी व्यवसायिक छवि को बिगड़ने की साजिश है।

सिर्फ मेरे खिलाफ ही कार्रवाई क्यों

उन्होंने ने दूसरे अफसरों पर भी निशाना साधा था। उन्होंने कहा कि अब तक प्रदेश में एक दो नहीं, कई आईएएस और आईपीएस अधिकारियों के वीडियो वायरल हुए हैं। कोई पैसे लेते हुए तो कोई किसी महिला के साथ आपत्तिजनक हालत में पकड़ा गया। लेकिन कभी कुछ नहीं हुआ। मेरा तो सिर्फ घर का विवाद है। वह भी कोई गंभीर नहीं है।

महिला आयोग को जवाब नहीं दिया

इस मामले में महिला अयोग ने भी शर्मा को नोटिसा जारी कर आयोग के सामने पेश होने को कहा था, लेकिन शर्मा उपस्थित नहीं हुए। उन्होंने आयोग के किसी बात का जवाब भी नहीं दिया। इस पर आयोग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने कहा कि क्योंकि सरकार उनके खिलाफ कार्रवाई कर चुकी है। अब आयोग आगे कोई कार्रवाई नहीं चाहती है। अगर शर्मा की पत्नी कोई मदद चाहती हैं, तो आयोग हमेशा तैयार रहेगा।

यह है मामला

मध्य प्रदेश पुलिस में डीजी रैंक के अफसर पुरुषोत्तम शर्मा ने 4 दिन पहले अपनी पत्नी प्रिया शर्मा के साथ मारपीट की थी। इस घटना से जुड़े दो वीडियो वायरल हुए थे। एक वीडियो में वे अपने घर में पत्नी के साथ मारपीट करते देखे जा रहे हैं। दूसरे वीडियो में शर्मा अपनी एक परिचित महिला के फ्लैट में बैठे हैं। यहां उनकी पत्नी पहुंचती हैं और शर्मा को लेकर सवाल शुरू कर देती हैं।

मामले में पुरुषोत्तम के बेटे पार्थ गौतम ने यह वीडियो फुटेज गृह मंत्री, डीजीपी समेत बड़े अफसरों को भेजे। पार्थ खुद भी आईआरएस यानी इंडियन रेवेन्यू सर्विस में हैं। घटना के बाद पुरुषोत्तम को पहले से पद से हटाया गया। बाद में उनको सस्पेंड कर दिया गया। मामले में राज्य महिला आयोग ने भी नोटिस जारी किया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

पूर्व डीजी शर्मा को अभी पत्नी से मारपीट मामले में राहत नहीं मिली है।

Related Posts