प्रशासन द्वारा होटल पर रिमूवल की कार्रवाई, अनैतिक कार्य संचालित होने की थी सूचना

रविवार सुबह नगर निगम की जेसीबी का पंजा महालक्ष्मी नगर में एक निर्माणाधीन होटल पर चला। बाहरी तौर पर तो यह भवन निर्माणाधीन नजर आ रहा है लेकिन प्रशासन को यहां होटल संचालित होने की सूचना मिली थी। होटल में अनैतिक कार्य हो रहे थे। प्रशासन भवन मालिक पर भी कार्रवाई की तैयारी कर रहा है।

गुंडे, ड्रग माफिया, भूमाफिया और अब अनैतिक कार्य संचालित करने वाले होटलों पर निगम का बुलडोजर चलना शुरू हो गया है। नगर निगम और जिला प्रशासन शहर को “क्लीन सिटी” बनाने में लगा हुआ है। जहां कचरे से शहर को बाहर किया जा रहा है, वैसे ही शहर के अंदर अनैतिक कार्य और माफियाओं को भी शहर से बाहर करने का काम भी लगातार जारी है।

इसी तारत्मय में निगम और जिला प्रशासन ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए शहर के महालक्ष्मी नगर में बनी होटल पर रिमूवल की कार्रवाई की है। प्रशासन को सूचना मिली थी कि होटल में अनैतिक कार्य संचालित किया जा रहा है। इस पर रविवार सुबह निगम द्वारा यह कार्रवाई की गई।

निगम उपायुक्त देवेन्द्र सिंह ने बताया कि गोपाल कुमावत द्वारा लसुडिया थाना क्षेत्र में कमर्शियल कॉम्प्लेक्स बनाया जा रहा था। नियम के अनुसार बिल्डिंग के आसपास एमओएस निगम के नियम के अनुसार नहीं छोड़े जाने के कारण यह कार्रवाई की गई है। कार्रवाई में बिल्डिंग मालिक द्वारा 1500 स्केवयर फीट प्लाट पर G+2 भवन की रेसिडेंशियल परमिशन प्राप्त कर कमर्शियल उपयोग हेतु G+3 का निर्माण किया जा रहा था। यहां होटल मालिक मोहम्मद अली उस्मानी पर भी प्रशासन कार्रवाई की तैयारी कर रहा है।

होटल स्वीट हार्ट पर रिमूवल– पिपलियाहाना स्थित होटल स्वीट हार्ट पर भी नगर निगम की टीम ने रिमूवल की कार्रवाई की। जहां पर शिकायत के आधार पर कमरों में कई आपत्तिजनक सामग्री भी मिली है। लंबे समय से पुलिस को यह सूचना थी कि होटल की आड़ में संचालक कई अनैतिक गतिविधियां भी संचालित कर रहा है। मोहम्मद अली उस्मानी के खिलाफ शहर के विभिन्न थानों में प्रकरण दर्ज है। होटल का निर्माण 15 बाय 60 के प्लाट पर किया हुआ था। बिल्डिंग के आसपास एमओएस निगम के नियम के अनुसार नहीं छोड़े जाने के कारण यह कार्रवाई की गई है। ​​​​​​

अब तक की एफआईआर में कई बड़े जमीन कारोबारी

  • भूमाफिया हेमंत यादव पर सेंट्रल कोतवाली और विजय नगर पुलिस ने अवैध कब्जे और धोखाधड़ी के दो केस दर्ज किए।
  • गैंगस्टर सतीश भाऊ पर पुलिस ने धमकाने, फ्लैट पर कब्जा करने का केस दर्ज किया।
  • तुकोगंज पुलिस ने चिराग शाह और बिल्डर ए मेहता पर सहकारिता विभाग की शिकायत पर प्लॉटों की हेराफेरी में केस दर्ज किया।
  • शिवनारायण अग्रवाल के खिलाफ लसूड़िया पुलिस ने तुलसी नगर कॉलोनी में प्लॉटों की धोखाधड़ी के दो केस दर्ज किए।
  • फर्जी दस्तावेजों से प्लॉट बेचने के मामले में बिल्डर गोपाल गोयल, मनोहर मीणा, भरत रघुवंशी, अफसर पटेल और विक्की रघुवंशी पर खजराना पुलिस ने केस दर्ज किया।
  • माफिया बब्बू-छब्बू, अकरम शेख, इमरान, समीर शेख, संचालक नितिन चंपालाल सिद्ध पर न्याय नगर संस्था के प्लॉटों के फर्जी कागज बनाकर धोखाधड़ी का केस दर्ज।
  • खजराना में मम्मू पटेल और इस्लाम पर जमीन की धोखाधड़ी का केस दर्ज।
  • शेख इस्माइल, शेख मुश्ताक, मेहबूब, अरविंद ठाकुर व दीपक पाटनी पर सीलिंग की जमीन पर प्लॉट काटने का केस दर्ज।
  • शेख मुश्ताक, इस्माइल, सरताज खान, सुखदेव, राधेश्याम, अनोखीलाल, खलील रहमान, संतोष, शाहजहां, राजेंद्र केदाल, अरविंद ठाकुर, दीपक पाटनी, धर्मेंद्र साहू पर धोखाधड़ी का केस किया है।
  • एरोड्रम पुलिस ने भूमाफिया रामसुमिरन कश्यप पर शासकीय भूमि पर कॉलोनी काटने और उसके प्लॉट लोगों को बेचकर धोखाधड़ी करने का केस दर्ज किया है। आरोपी फिलहाल सेंट्रल जेल में बंद है। इसके खिलाफ डेढ़ दर्जन अपराध दर्ज हैं।
  • मोहम्मद उस्मानी की रिपोर्ट पर पुलिस ने जीतू सोनी, राजेश जैन और निखिल कोठारी पर ग्रीन होराइजन कॉलोनी में प्लॉट की धोखाधड़ी का दर्ज किया है।
  • गुंडे मुख्तियार के खिलाफ विजय नगर पुलिस ने जमीन की धोखाधड़ी के मामले में केस दर्ज किया।
  • प्रशासन ने जमीन से लेकर खनन, शराब, परिवहन के कारोबारियों की बनाई सूची।
  • प्रशासन, पुलिस और निगम माफियाओं के साथ कुछ बड़े कारोबारियों के कामकाज की जांच कर रहा है। हालांकि अभी केवल माफियाओं पर फोकस रहेगा। सभी विभागों के साथ संयुक्त सूची बनाई है, उसके आधार पर जांच चल रही है।

ये हैं जमीन मामलों के माफिया

  • बॉबी छाबड़ा- कई संस्थाओं में जमीन घोटालों में नाम।
  • चिराग शाह- जमीन घोटाले में कई मामले।
  • चंपू अजमेरा- एक ही प्लॉट कई बार बेचे।
  • बब्बू-छब्बू- जमीन पर कब्जे के कई मामले दर्ज हैं।
  • शिवनारायण अग्रवाल- तुलसी नगर में घपला।
  • शेख मुश्ताक- मयूर नगर संस्था में बड़ी धांधली।
  • अरुण डागरिया-प्लॉट काटने के नाम पर धोखाधड़ी।
  • धवन बंधु- हैप्पी और लकी का जमीन घोटालों में नाम।
  • रामसुमिरन कश्यप- घोटालों में ईओडब्ल्यू में केस।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

होटल स्वीट हार्ट पर निगम ने कार्रवाई की। चित्र कार्रवाई शुरू होने के पहले और बाद का।

Related Posts