भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के पिता की कोरोना से मौत; एक दिन में रिकॉर्ड 13.5% के रेट से पॉजिटिव मिले, मुख्यमंत्री की अपील- सक्षम लोग इलाज का बिल भरें

मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण बेकाबू हो गया है। शनिवार देर रात ग्वालियर में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा के पिता अमर सिंह का 93 साल की आयु में निधन हो गया। वे कोरोना पॉजिटिव आए थे। इसके बाद से उनका अस्पताल में इलाज चल रहा था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शर्मा से देर रात उनके घर पर मुलाकात की और उन्हें संवेदनाएं दीं। इधर, मुख्यमंत्री शिवराज ने सक्षम लोगों से कोरोना का इलाज के बाद बिल भरने की अपील की।

वीडी शर्मा रविवार की सुबह विशेष प्लेन से ग्वालियर गए और वहां से पार्थिव शरीर को लेकर अपने पैतृक गांव चले गए। शर्मा ने सभी परिजन, शुभचिंतकों को अंत्येष्टि में शामिल नहीं होने का अनुरोध किया। ग्वालियर में शनिवार को तीन लोगों की कोरोना के कारण मौत हुई। एक्टिव केस के मामले में इंदौर के बाद ग्वालियर दूसरे नंबर पर है।

खुद वीडी शर्मा ने सोशल मीडिया पर जानकारी दी

संक्रमितों की संख्या 1 लाख 30 हजार 342 हुई

प्रदेश में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 लाख 30 हजार 342 हो गई है। शुक्रवार को प्रदेश में एक दिन में कोरोना पॉजिटिव केस मिलने का रेट 12.4% था, जो शनिवार को बढ़कर 13.5% हो गया। अब तक 1943 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 21964 एक्टिव केस हैं। हालांकि अच्छी बात यह है कि अब तक 79158 मरीज ठीक हो चुके हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आर्थिक रूप से सक्षम व्यक्तियों को ठीक होने के बाद खुद अस्पातल के इलाज का खर्च देना चाहिए।

आर्थिक रूप से सक्षम लोग अस्पताल को भुगतान करें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना के उपचार के लिए कोई राशि नहीं ली जा रही है। समाज का बहुत बड़ा वर्ग यह राशि नहीं दे सकता। अस्पतालों में दाखिल होने वाले समाज के समर्थ तबके के रोगियों को उपचार लाभ प्राप्त करने के बाद स्वैच्छिक रूप से चिकित्सा देयक का भुगतान करना चाहिए। चौहान ने समाज के संपन्न वर्ग से अपील की कि वे बिना तकलीफ के यदि इलाज की राशि दे सकते हैं तो इसके लिए आगे आना चाहिए। यह समूचे स्वास्थ्य तंत्र, चिकित्सा संस्थान और समाज के लिए दिया गया सहयोग होगा।

प्रदेश सरकार के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर क्षेत्र में लोगों से संपर्क करते हुए।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पल्स ऑक्सीमीटर के उपयोग को सुनिश्चित किया जाए। होम आइसोलेशन व्यवस्था की सशक्त मॉनीटरिंग भी की जाए। रोगियों के इलाज और देखरेख की बेहतर व्यवस्था करने वाले निजी अस्पतालों को आवश्यक सहयोग भी किया जाए। इस अवसर पर कमांड एंड कंट्रोल केन्द्रों द्वारा होम आइसोलेशन के रोगियों की लगातार मॉनीटरिंग की जानकारी भी ली जाना जरूरी करें। प्रदेश में 2 से 16 सितंबर के बीच में पॉजीटिविटी रेट 8.9% रहा। इसके साथ ही फैटेलिटी रेट 2% रहा, जो निरंतर कम हो रहा है। देश में एक्टिव रोगियों की संख्या के मान से मध्यप्रदेश 14वें क्रम पर है। मध्यप्रदेश का रिकवरी रेट 76.8% है।

कोरोना अपडेट्स

सबसे ज्यादा 42 लोगों की मौत

प्रदेश में कोरोना संक्रमण भयानक रूप लेता जा रहा है। शनिवार को एक दिन में 42 लोगों की संक्रमण से मौत हो गई। पहला केस मिलने के बाद से अब तक एक दिन में कोरोना से हुई सबसे ज्यादा मौतें हैं। भोपाल जिले में 8 मौतें हुईं, जिसमें राजधानी में 5 और रायसेन में 3 मौतें शामिल हैं। वहीं इंदौर में 7, ग्वालियर में 3 और दतिया में 3 संक्रमितों ने दम तोड़ दिया।

भोपाल समेत प्रदेश भर में बाजार 8 बजे बंद होने का आदेश जारी हुए हैं। शनिवार रात भोपाल में बाजारों में खरीदारी करते लोग।

भोपाल में आज फिर मिले 277 नए केस

राजधानी भोपाल में शनिवार को जहां एक दिन के सबसे ज्यादा 307 नए केस सामने आए थे। वहीं रविवार को यह संख्या 277 रही। चौकाने वाली बात यह है कि एक दिन में पॉजिटव 13.5% की दर से मिले। यह एक दिन में सबसे ज्यादा है। भोपाल में अब 16040 हो गई है। कुल 373 लोग कोरोना संक्रमण के कारण जान गंवा चुके हैं।

भोपाल में रात 8 बजे दुकानें बंद

गृह मंत्रालय ने शनिवार से प्रदेशभर में खाने-पीने और मेडिकल को छोड़कर सभी तरह की दुकानें रात 8 बजे तक बंद करने के निर्देश दिए हैं। राजधानी भोपाल में इस आदेश का रविवार से आदेश शक्ति से पालन कराए जाने लगा है। हालांकि खाने-पीने और शराब दुकानें देर रात खुले रहने का विरोध भी शुरू हो गया है।

मंत्री तुलसी सिलावट ने इंदौर जिले में 500 से अधिक लोगों को वनाधिकार पत्र दिए।

इंदौर में आईसीयू के सिर्फ 44 बेड खाली

इंदौर में पॉजीटिव और संदिग्ध रोगियों के लिए 7073 बेड की क्षमता के मुकाबले 1681 बेड भरें हैं, जो पूरी क्षमता का 24% है। आईसीयू बेड भी कुल क्षमता 325 के मुकाबले 281 उपयोग में आ रहे हैं। यह क्षमता का 86% है। अभी सिर्फ 44 बेड ही खाली हैं। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि व्यापारियों द्वारा दुकानों के खुलने की अवधि को कम करने की सहमति मिल रही है, जिससे संक्रमण को रोकने में सहयोग मिलेगा। बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव श्री मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री मनीष रस्तोगी और आयुक्त जनसंपर्क डॉ. सुदामा खाडे़ उपस्थित थे।

बड़वानी में 17 लोगों की मौत हो चुकी

बड़वानी जिले में कोरोनावायरस पॉजिटिव लोगों की संख्या बढ़कर 1604 हो गई है। इसमें अभी तक 1320 लोग स्वस्थ होकर घरों को वापस चले गए हैं। जबकि 267 लोगों का उपचार इंदौर एवं बड़वानी के अस्पतालों में चल रहा है। वही अभी तक 17 लोगों की मृत्यु हुई है।

चिकित्सा छात्र बीमा की योजना लागू की जाएगी

चिकित्सा महाविद्यालयों के शासकीय अस्पतालों में कार्य कर रहे जूनियर डॉक्टर के कोरोना संक्रमित होने पर उनके उपचार में लगने वाली महंगी जीवन रक्षक दवाइयों के व्यय का राज्य शासन द्वारा रीइंबर्समेंट किया जाएगा। दूरगामी नीति के रूप में जूनियर डॉक्टर और मेडिकल कॉलेज के चिकित्सा छात्रों के लिए मेडिकल कॉलेज में उनके अध्ययन अवधि के दौरान चिकित्सा छात्र बीमा की योजना लागू की जाएगी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के पिता अमर सिंह का 93 साल की आयु में शनिवार देर रात ग्वालियर में निधन हो गया है।- फाइल फोटो

Related Posts