भेड़ाघाट में तीन दिवसीय मेला का आयोजन रद्द, नर्मदा के तीनों प्रमुख घाटों पर नौकायन प्रतिबंधित

मकर संक्रांति पर्व पर भी कोरोना का असर दिखने लगा है। एहतियात के तौर पर भेड़ाघाट नगर पंचायत ने मकर संक्रांति पर लगने वाला तीन दिवसीय मेला का आयोजन रद्द कर दिया। वहीं कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने ग्वारीघाट, तिलवारा, व सरस्वती घाट पर नौकायन प्रतिबंधित कर दिया है। ऐसा नौकायन के दौरान होने वाले हादसे की आशंका को टालना है। मकर संक्रांति पर जिले में दूर-दूर से आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या को देखते हुए बरगी बांध प्रबंधन को भी जल छाेड़ने के निर्देश दिए हैं।

मेला निरस्त करने संबंधी आदेश पत्र

भेड़ाघाट में इस बार नहीं भरेगा मेला
जानकारी के अनुसार भेड़ाघाट में हर वर्ष मकर संक्रांति पर तीन दिन का मेला भरता था। इस बार भेड़ाघाट नगर परिषद ने कोरोना का हवाला देते हुए इसे स्थगित करने का निर्णय लिया है। यहां हर वर्ष 14 से 16 जनवरी को सरस्वती घाट से लेकर भेड़ाघाट तक मेला भरता था। जबलपुर सहित आसपास के जिलों से भी बड़ी संख्या में लोग मकर संक्रांति के अवसर पर पहुंचते थे।

मकर संक्रांति पर इस तरह उमड़ते हैं श्रद्धालु (वर्ष 2019 की फाइल फोटो)

दो दिन नर्मदा के तीनों घाटों पर नहीं होगा नौकायन
उधर, कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने मकर संक्रांति पर उमड़ने वाली भीड़ और ग्वारीघाट, तिलवाराघाट, सरस्वती घाट में होने वाले नौकायन पर प्रतिबंध लगा दिया है। ग्वारीघाट में सिर्फ सवारी नाव को अनुमति रहेगी। ये प्रतिबंध 14 व 15 जनवरी के लिए लगाया गया है। वहीं नगर निगम को मकर संक्रांति पर सफाई कर्मियों और होमगार्ड कमांडेंट को गोताखोरों को तैनात करने के निर्देश दिए हैं।

ग्वारीघाट में एक वर्ष पहले मकर संक्रांति पर इस तरह उमड़े थे श्रद्धालु

बरगी बांध से छोड़ा जाएगा पानी
मकर संक्राति पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के नर्मदा घाटों पर पहुंचने की संभावना है। इसे देखते हुये बरगी बांध के अधीक्षण यंत्री को नर्मदा नदी के जलस्तर को स्थिर बनाये रखने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए नर्मदा में पानी छोड़ा जाएगा। कलेक्टर ने सीएमएचओ को ग्वारीघाट, तिलवाराघाट व भेड़ाघाट में 14 व 15 को जनवरी चिकित्सकों और एम्बुलेंस तैनात करने का निर्देश दिया है।

मकर संक्रांति पर कलेक्टर ने ली अहम बैठक, जारी किए कई जरूरी निर्देश

इन अधिकारियों की ड्यूटी लगाई

  • गोरखपुर एसडीएम मणींद्र कुमार सिंह को ग्वारीघाट, दरोगाघाट, खारीघाट, जिलहरीघाट, सिद्धघाट, उमाघाट, भेड़ाघाट, सरस्वती घाट, लम्हेटाघाट और तिलवाराघाट का मजिस्ट्रेट नियुक्त किया है।
  • गोरखपुर तहसीलदार अनूप श्रीवास्तव को ग्वारीघाट, दरोगाघाट व खारीघाट की जिम्मेदारी दी है।
  • नायब तहसीलदार गोरखपुर राजेन्द्र शुक्ला को जिलहरीघाट, सिद्धघाट व उमाघाट की जिम्मेदारी दी है।
  • तहसीलदार अधारताल दिलीप चौरसिया को भेड़ाघाट व सरस्वती घाट की जिम्मेदारी दी है।
  • नायब तहसीलदार रांझी नेहा जैन को लम्हेटाघाट की जिम्मेदारी दी है।
  • नायब तहसीलदार शहपुरा नीरज तखरिया को तिलवाराघाट की जिम्मेदारी सौंपी है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

वर्ष 2019 में इस तरह भेड़ाघाट में भरा था मेला (फाइल फोटो)

Related Posts