भोपाल में आज रिकॉर्ड 317 नए संक्रमित मिले; छह महीने में हॉटस्पॉट ऐशबाग, जहांगीराबाद, तलैया और शाहजहांनाबाद में 110 मौतें

मध्य प्रदेश राजधानी भोपाल में कोरोना का तांडव जारी है। लगातार नए मरीजों के साथ ही मौतों के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं। बुधवार को 313 नए कोरोना केस मिले। ये बीते छह महीने में एक दिन में मिलने वाले सबसे ज्यादा संक्रमित हैं। भोपाल में पांच दिन के अंदर ये दूसरी बार है, जब संक्रमितों का आंकड़ा 300 के पार चला गया। इससे पहले 19 सितंबर यानि शनिवार को कोरोना के 307 नए मरीज मिले थे। इसके साथ ही राजधानी में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 16908 हो गई है। वहीं, कोरोना से जान गंवाने वालों का आंकड़ा 383 पहुंच गया है।

मध्य प्रदेश में हर रोज औसतन 29 लोगों की मौत हो रही है। वहीं, 2700 से ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। मंगलवार को शिवराज सरकार के दो मंत्रियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके साथ ही अब तक सरकार के 14 मंत्री संक्रमित हो चुके हैं। वहीं पक्ष और विपक्ष के 44 विधायकों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। इसमें ब्यावरा से कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी की मौत हो गई थी। वह कोरोना के चलते अस्पताल में भर्ती हुए थे। बाद में उनकी दो रिपोर्ट पॉजिटिव आई थीं।

चार हॉटस्पॉट इलाकों में छह महीने में सबसे ज्यादा 110 मौतें, जिसमें 75 बुजुर्ग शामिल

भोपाल में छह माह में ऐशबाग, जहांगीराबाद, तलैया, शाहजहांनाबाद में सबसे ज्यादा मौतें हुईं हैं। 22 मार्च से लेकर 22 सितंबर तक 383 मरीजों की मौत हो चुकी है। कोरोना संक्रमित मरीजों के छह माह के आंकड़ों की मानें तो शहर का जहांगीराबाद क्षेत्र ऐसा है, जहां अब तक सबसे ज्यादा कोरोना केस मिले हैं। इन चारों केंद्रों में सबसे ज्यादा 60-80 साल की उम्र के 75 बुजुर्गों की मौत हुई है।

22 मार्च के बाद जब भोपाल में कोरोना संक्रमित मिलने शुरू हुए। उसके बाद से तो जहांगीराबाद क्षेत्र प्रदेश का सबसे बडा हॉटस्पॉट बन गया था। जहांगीराबाद के कुछ हिस्सों में अब भी पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं। हालांकि यहां मौत का आंकड़ा 27 तक ही पहुंच पाया है। अधिकतर लोग स्वस्थ होकर घर पहुंच गए हैं। कोरोना से मौत के मामले में ऐशबाग क्षेत्र सबसे आगे है। यहां पर यहां अब तक 500 संक्रमित मिले हैं। इनमें से 33 मरीजों की मौत कोरोना से हुई है।

इन चार हॉटस्पॉट में 110 लोगों की हो चुकी है मौत
भोपाल में प्रदेश के सबसे बड़े हॉटस्पॉट केंद्र जहांगीराबाद के साथ ही ऐशबाग, शाहजहांनाबाद और तलैया में बीते छह महीने में 110 लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें सबसे ज्यादा 60-90 साल के बुजुर्गों ने अपनी जान गंवाई है। मरने वालों में सबसे बड़ी संख्या ऐशबाग इलाके की है। वहीं, कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा जहांगीराबाद की है।

  1. ऐशबाग- यहां पर अब तक कुल संक्रमित मरीज 500 मिले हैं। इसमें 33 की मौत हो चुकी है। इसमें सबसे ज्यादा 23 मौतें 50 से 80 साल के कोरोना संक्रमितों की हुई हैं।
  2. जहांगीराबाद- यहां पर कुल संक्रमित 880 मिल चुके हैं। लेकिन मौतें ऐशबाग से कम 28 ही हुई हैं। कोरोना से जान गंवाने वालों में यहां से भी 21 बुजुर्गों ने अपनी जान गंवाई, जिनकी उम्र 60 से 90 वर्ष के बीच थी।
  3. तलैया- यहां पर कुल संक्रमितों की संख्या 240 तक पहुंच गई है। इसमें 24 लोगों की मौत हो चुकी है। यहां पर कोरोना से सबसे ज्यादा 14 की मौत 26 से 58 साल के लोगों की हुई है।
  4. शाहजहांनाबाद- यहां पर अब तक कुल संक्रमित 500 मरीज मिल चुके हैं। कुल 25 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है, जिसमें 60-80 वर्ष की उम्र के 17 बुजुर्गों की मौत हुई है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

ये गलत है: तस्वीर मंगलवार को भोपाल की है। यहां पर कांग्रेस कार्यकर्ता पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव के खिलाफ मंत्री अरविंद भदौरिया की टिप्पणी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। उन्होंने मंत्री का बंगला घेरने की कोशिश की तो पुलिस ने उन्हें बैरिकेडिंग लगाकर रोक दिया। इस वक्त किसी के चेहरे पर मास्क नहीं दिखा और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हुआ। सवाल- क्या इनके लिए कलेक्टर भोपाल के नियम लागू नहीं होते हैं।

Related Posts