महिलाएं बोलीं- 5 साल से पानी की समस्या से जूझ रहे, पहने तो आता नहीं, आता भी है तो ड्रेनेज मिला पानी, डेढ़ किमी दूर से भरकर ला रहे पीने का पानी

पानी की समस्या से पिछले पांच साल से जूझ रहे पंचम की फेल वार्ड – 47 के रहवासी मंगलवार को जोन कार्यालय पर अपना आक्रोश जताने पहुंचे। उनका कहना था कि पहले तो पानी दो-दो दिन आता नहीं। यदि आता भी है तो ड्रेनेज युक्त गंदा पानी। कई बार शिकायत करने के बाद भी समस्या का निराकरण नहीं हो पा रहा है। अधिकारियों से सिर्फ आश्वासन ही मिलता है। पूरे मामले में अधिकारी का कहना था कि वार्ड में प्रतिदिन पानी की सप्लाई हो रही है। इस क्षेत्र में डली पाइप लाइन सालों पुरानी है। गंदे पानी की समस्या का निराकरण हम जल्द करेंगे।

अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि वे इसका समाधान जल्द करेंगे।

जाेन ऑफिस पहुंची महिलाओं का कहना है कि करीब पांच साल से हमारे क्षेत्र में पानी की समस्या बनी हुई है। पहले तो पानी आता नहीं यदि आ भी जाए तो गंदा पानी मिलता है। तीन से चार दिन में एक बार पानी मिलता है। अधिकारियों से बोला तो कहते हैं कि हम तो आए थे, आपने लाइन सही नहीं करने दिया। इन्होंने खुदाई कर जड़ें भी निकाली, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ। पार्षद को लेकर कहा कि वह तो मिलती ही नहीं हैं। वहीं, एक अन्य महिला ने कहा कि हम एक से दो किमी दूर से पीने का पानी लेकर आ रहे हैं। एक-दो बर्तन भरकर लाते हैं, इतने में क्या होता है। दिनभर काम करने के बाद पानी के लिए परेशान होते रहते हैं। हमारी तो यही मांग है कि बेकार हो चुकी पुरानी पाइप लाइन को निकालकर नई लाइन डाल दी जाए। अधिकारियों ने आश्वासन दिया है कि वे इसका समाधान जल्द करेंगे।

उपयंत्री जलकर जोन क्रमांक 9 सुरेश रावत का कहना है कि उस क्षेत्र में 30 से 40 साल पुरानी पाइप लाइन डली है। लाइन डैमेज होने से उसमें गंदा पानी मिल जाता है। जब हम ड्रेनेज की लाइन साफ करवा देते हैं तो क्षेत्रवासियों को साफ पानी मिलने लगता है। क्षेत्र में बोरिंग हो चुके हैं। पाइप लाइन डालने का प्रस्ताव भी बनाकर भेजा जा चुका है। इसके पहले भी दो बार पाइप लाइन डालने का प्रस्ताव पास हो चुका है। ठेकेदार जेसीबी लेकर काम शुरू करने पहुंचे तो यहां के आधे रहवासियों ने उन्हें काम नहीं करने दिया। इसका कारण यह है कि यहां पर ज्यादातर कनेक्शन अवैध हैं। नई लाइन डलते ही सभी वैद्य कनेक्शन होंगे। ऐसे में कुछ लोग समस्या उत्पन्न कर रहे हैं। इस क्षेत्र में एक दिन टंकी और एक दिन सीधे पानी की सप्लाई की जाती है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

पानी की समस्या लेकर सुबह बड़ी संख्या में महिलाएं जोन कार्यालय पहुंचीं।

Related Posts