मां और दोस्तो को जिंदगी भर सपोर्ट करने के लिए धन्यवाद लिखकर इंजीनियरिंग के छात्र ने फांसी लगाकर दी जान

इंदौर में एक सेकेंड ईयर के छात्र ने खुदकुशी कर ली। उसने एक पेज का सुसाइड नोट छोड़ा है, जिसमें मां और दोस्तो को जीवन भर सपोर्ट करने के लिए धन्यवाद दिया। इसके बाद फांसी लगाकर अपनी जीवनलीला खत्म कर ली। मृतक ने एक पेज पर अंग्रेजी में तीन लाइन का सुसाइड नोट छोड़ा है और किसी को भी अपनी मौत के लिए जिम्मेदार नही बताया है।

एक पेज का सुसाइड नोट छोड़कर छात्र ने लगा ली फांसी।

घटना तिलकनगर थाना क्षेत्र के वसुंधरा अपार्टमेंट की है। यहां पर रहने वाले 21 वर्षीय छात्र दीपेश चौहान ने अपने ही घर मे फांसी लगा ली। मृतक मूल रूप से उज्जैन का रहने वाला है और इंदौर में इंजीनियरिंग में सेकेंड ईयर की पढ़ाई कर रहा था। परिजनों ने अनुसार, मृतक दीपेश को बहुत गुस्सा आता था और रात को भी उसका फोन पर किसी से झगड़ा हुआ था।

मृतक ने खुदकुशी करने से पहले एक सुसाइड नोट छोड़ा है जिसमे उसने लिखा है कि वह अब अपने जीवन को आराम दे रहा है। वही सपोर्ट करने वाले दोस्तो ओर मां को धन्यवाद कहा है। इतना लिखने के बाद उसने फांसी लगा ली। मामले में पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए एमवाय भिजवाकर जांच शुरू कर दी है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

इंदौर के तिलकनगर इलाके में इंजीनियरिंग के छात्र ने फांसी लगा ली। उसने सुसाइड नोट में अपनी मां और दोस्तों को सपोर्ट के लिए शुक्रिया कहा है।

Related Posts