मास्क नहीं लगाने पर लोगों की नाराजगी बढ़ी तो मंत्री मिश्रा के सुर बदले; बोले- मेरा बयान पीएम की भावनाओं के विपरीत, मुझे भी बेहद आंतरिक पीड़ा हुई

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के मास्क नहीं लगाने के सवाल पर अब सुर बदल गए हैं। मंत्री के मास्क नहीं पहनने पर लोगों ने सोशल मीडिया पर जमकर नाराजगी जताई। कई लोगों ने उनके खिलाफ जुर्माना तक लगाए जाने की मांग कर डाली। इसके बाद मंत्री ने सफाई में कहा कि मुझे सांस लेने में तकलीफ होती है, इसलिए मास्क नहीं पहनता हूं। गुरुवार सुबह उनके तेवर और नरम हो गए। उन्होंने बयान जारी कर कहा कि मैं इसके लिए माफी मांगता हूं।

मिश्रा ने कहा कि मास्क पहनने के बारे में मेरे बयान से कानून की अवहेलना महसूस हुई है। यह प्रधानमंत्री की भावना के अनुरूप नहीं था। मैं अपनी गलती मानते हुए खेद प्रकट करता हूं। मैं स्वयं भी मास्क पहनूंगा। लोगों से भी अपील करूंगा कि सभी मास्क पहनें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

गृह मंत्री का बयान-

इसलिए माफी मांगनी पड़ी
बुधवार को मंत्री मिश्रा इंदौर गए थे। वे 4 घंटे तक अलग-अलग सरकारी कार्यक्रमों में शामिल हुए। इनमें खासी भीड़ भी रही, लेकिन मंत्री कोरोना गाइडलाइन का पालन करते नहीं दिखे। इसके पहले भी कई बार मास्क नहीं पहनने के सवाल पर वे मुस्कुराते हुए और अलग-अलग तरह से प्रतिक्रिया दे चुके थे। इसी दौरान उनसे पूछा गया कि वे मास्क क्यों नहीं लगाते तो उन्होंने कहा- ‘मैं कभी मास्क नहीं पहनता। मैं यहां क्या, किसी भी कार्यक्रम में मास्क नहीं पहनता। इससे क्या होता है। मैं तो कभी मास्क पहनता ही नहीं हूं।’ इसके बाद मंत्री मिश्रा कांग्रेस समेत लोगों के निशाने पर आ गए थे।

सार्वजनिक कार्यक्रम के दौरान सिर्फ गृह मंत्री ने मास्क नहीं लगाया। हैरानी की बात यह थी कि यह पुलिस का ही कार्यक्रम था।

सवाल उठे तो बोले- सांस की तकलीफ है
गृह मंत्री ने बाद में सफाई में कहा- सांस लेने में तकलीफ की वजह से कभी-कभी मास्क नहीं लगाता हूं। मैंने कई कार्यक्रमों में मास्क लगाया है। प्रदेश के लोगों से अपील है कि वे भी मास्क लगाएं और कोविड नियमों का पालन करें।

मंत्री मिश्रा चार घंटे तक कार्यक्रम में रहे, लेकिन एक बार भी उन्होंने फेस कवर नहीं किया।

कांग्रेस ने गृह मंत्री को मास्क पहनाने वाले को इनाम रखा था
कोरोना के लगातार बढ़ते कहर के बीच मिश्रा के मास्क नहीं पहनने को लेकर शुरू से ही विवाद खड़ा होता रहा। ऐसे में कांग्रेस ने एक इनामी घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि जो भी मिश्रा को मास्क पहनाएगा उसे 11 हजार रुपए कांग्रेस अपनी तरफ से देगी। उसके बाद इसके लेकर गृहमंत्री ने कहा था कि यह रकम मुझे मास्क पहनाने की जगह लोगों की मदद में खर्च करें। हालांकि फिर मुख्यमंत्री के कहने के बाद मास्क पहनना शुरू कर दिया था।

मीडिया के सामने यह मास्क पहनने के कारण सुर्खियों में आए थे।

इससे पहले भी अजीब मास्क के कारण सुर्खियों में रहे
गृह मंत्री का कुछ दिनों पहले अपने ही चेहरे की फोटो वाला मास्क पहनने का वीडियो वायरल हुआ था। मास्क को देखकर नहीं लगता था कि उनके चेहरे पर कुछ है। इसको लेकर भी वे सुर्खियों में आए थे। हालांकि उन्होंने उस मास्क को सिर्फ एक बार ही पहना था। उसके बाद मास्क को दोबारा उपयोग करते नहीं देखा गया।

कांग्रेस ने गृह मंत्री के मास्क नहीं पहनने को मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के लिए एक चुनौती बताया। इंदौर के कार्यक्रम के दौरान गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा।

कांग्रेस ने मुख्यमंत्री को चुनौती बताया
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने मंत्री के बयान को पहले प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के लिए खुली चुनौती बताया। अब मंत्री के माफी मांगने पर कहा कि जो भी सच्चाई हो लेकिन गृह मंत्रीजी देर आए- दुरुस्त आए। कांग्रेस का कहना था कि जिस मंत्री के जिम्मे गृह मंत्री होने के नाते प्रदेश की कानून-व्यवस्था के पालन की जिम्मेदारी है, वो कहे कि मैं मास्क नहीं पहनता और दूसरी तरफ प्रदेश की जनता पर मास्क नहीं पहनने पर चौराहे-चौराहे जुर्माना वसूला जा रहा है, ये कैसा दोहरा कानून है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा बुधवार को इंदौर में थे। वे दो कार्यक्रम में बिना मास्क के ही शामिल हुए। मंत्री से जब मास्क नहीं लगाने का कारण पूछा तो वे बोले- ‘मैं मास्क नहीं लगाता।’ शाम को ही मंत्री बयान से पीछे से हट गए थे। कहा था- सांस की तकलीफ की वजह से मास्क नहीं लगाते। सुबह बयान को लेकर माफी मांगी है।

Related Posts