यूपी के इटावा से ला रहे थे स्मैक, पुलिस को देख खेत में लगा दी दौड़, पकड़े गए

यूपी के इटावा से स्मैक लेकर शहर में तस्करी के लिए आ रहे बदमाशों का सामना पुलिस से हो गया। पुलिस को देख बदमाशों ने अपनी एक्टिवा खेतों में उतार दी, लेकिन पानी भरा होने के कारण एक्टिवा के पहिए खेत में धंस गए। इस पर दोनों बदमाशों ने दौड़ लगा दी। इसी समय पुलिस ने उन्हें पीछा कर पकड़ लिया। उनके पास से 19 ग्राम स्मैक मिली है। यह कार्रवाई शनिवार सुबह चितौरा रोड बड़ागांव की है। बरामद स्मैक की कीमत 1 लाख 70 हजार रुपए बताई गई है। फिलहाल पकड़े गए स्मैक तस्करों से पूछताछ की जा रही है। उन्होंने युवाओं को स्मैक की लत लगाकर ग्राहक बनाने की बात कही है।

क्राइम ब्रांच एडिशनल एसपी सतेन्द्र सिंह तोमर ने बताया कि सूचना मिली कि कुछ तस्कर यूपी से काफी मात्रा में स्मैक लेकर शहर में आने वाले हैं। यह स्मैक तस्कर भिंड के रास्ते शहर में प्रवेश करेंगे। एक बार शहर में प्रवेश कर गए तो इन्हें ढूंढ पाना मुश्किल हो जाएगा। सूचना पर तत्काल क्राइम ब्रांच को निर्देशित किया। क्राइम ब्रांच के अफसरों ने जवानों के साथ मुरार थाना क्षेत्र के बड़ागांव पुल के पास चितौरा रोड पर सर्चिंग शुरू कर दी। तभी एक्टिवा पर दो युवक आते दिखे जो पुलिस को देख चितौरा रोड की तरफ भागने लगे। पुलिस की टीम ने पीछा किया। पुलिस को पीछा करते दोनों युवकों ने गाड़ी सड़क से खेतों की तरफ दौड़ा दी, लेकिन आगे खेत में पानी और फसल होने से गाड़ी के पहिए फंस गए। जिस कारण बदमाशों को स्कूटर छोड़कर खेत में दौड़ना पड़ा। यहीं पुलिस ने उन्हें पीछा कर पकड़ लिया।

युवाओं को लगाते थे नशे की लत

पकड़े गए बदमाशों की पहचान छोटू उर्फ कामेश सिंह, शुभम राजावत के रूप में हुई है। इनके पास से 19 ग्राम स्मैक मिली है। जिसकी कीमत 1.70 लाख रुपए है। साथ ही एक्टिवा बरामद हुई है। इन्होंने कुबूल किया है कि यह इटावा यूपी से स्मैक लेकर आते थे। इनका टारगेट युवा होते थे। उन्हें पहले स्मैक की लत लगाकर ग्राहक बनाते थे फिर उन्हीं से स्मैक की तस्करी कराते थे।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

प्रतीकात्मक फोटो

Related Posts