: राजस्थान में नाइट कर्फ्यू के कारण जश्न नहीं; एमपी में अधिकतम 200 लोग इकट्‌ठा हो सकेंगे

चंडीगढ़ से जयपुर आए राहुल और उनकी पत्नी इस बार न्यू ईयर नाइट को लेकर भारी निराश दिखाई दिए। उन्हें यहां आकर पता चला कि नाइट कर्फ्यू नहीं हटाया गया है। रात 8 बजे कोई भी बाहर नहीं निकल सकता है। ऐसे में उन्होंने प्लान बदलते हुए जयपुर से लौटने का फैसला किया है। ये इकलौते कपल नहीं है जिनका न्यू ईयर प्लान कोरोना की बंदिशों ने बिगाड़ा है।

मध्यप्रदेश में तमाम रोक के बीच न्यू ईयर का जश्न मना सकेंगे लेकिन मॉनीटरिंग और चेकिंग के निर्देश दिए हैं। कहीं भी 200 से ज्यादा लोग इकट्‌ठा नहीं होने दिए जाएंगे। झारखंड के लिए भी इसी तरह पाबंदियां लागू की गई हैं।

राजस्थान : नाइट कर्फ्यू के कारण घरों में ही मनेगा जश्न, जयपुर में सैकड़ों जगह नाकाबंदी

कई टूरिस्ट स्पॉट और आलीशान होटलों के लिए मशहूर राजस्थान में अबकी बार न्यू ईयर नाइट फीकी रहेगी। नाइट कर्फ्यू नहीं हटाने के फैसले के कारण आठ बजे ही सड़कें सूनी हो जाएंगी। ऐसे में लोगों को इस बार 2020 की विदाई और 21 का स्वागत घर-मोहल्ले में ही करना पड़ेगा। नाइट कर्फ्यू के कारण बाहर से आकर होटलों में रुके कई पर्यटक लौट गए हैं। उन्होंने दूसरे राज्यों का रूख किया है। हुड़दंगियों को रोकने के लिए अकेले जयपुर में ही 82 जगहों पर, शाम को 7 बजे से 120 जगहों पर और रात को 90 जगहों पर नाकाबंदी की जाएगी।

मध्यप्रदेश : हर शहर में अलग गाइडलाइन, राजधानी में 12.30 तक जश्न की इजाजत

एमपी में प्रशासन ने न्यू ईयर नाइट के लिए छूट देने का अधिकार कलेक्टरों को सौंप रखा है। हर शहर के लिहाज से गाइडलाइन जारी की गई है। राजधानी भोपाल में रात 12.30 बजे तक जश्न मना सकेंगे लेकिन ओपन स्पेस या गार्डन में 200 से ज्यादा लोग इकट्‌ठा नहीं हो सकेंगे। होटल, क्लब या पब भी 50% ही क्षमता से खुले रह सकेंगे। इंदौर समेत अन्य शहरों में बाहर से सेलिब्रिटी नहीं आ सकेंगे। जबलपुर में भी कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए नए वर्ष का स्वागत किया जाएगा।

भोपाल में नए साल के जश्न को देखते हुए विशेष चेकिंग अभियान शुरू किया है। भोपाल में बस स्टैंड पर पुलिसकर्मी संदिग्ध सामानों की डॉग की मदद से जांच करते हुए।

झारखंड : 200 से ज्यादा लोग इकट्‌ठा नहीं हो सकेंगे, ब्योरा रखना होगा

न्यू ईयर के जश्न के लिए रांची जिला प्रशासन की तरफ से विशेष गाइडलाइन जारी की गई है। होटल, बार और रेस्तरां पर पार्टी करने पर प्रतिबंध रहेगा। माॅनीटरिंग के लिए स्पेशल स्क्वाड गश्त करेगा। कहा गया है कि सभी को हर हाल में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। हॉल की क्षमता के मुताबिक उससे आधा या अधिकतम 200 लोगों को ही हॉल में प्रवेश मिलेगा। एंट्री गेट पर मास्क, सैनेटाइज और थर्मल स्क्रिनिंग की व्यवस्था अनिवार्य रूप से करनी होगी। इतना ही नहीं होटल आने वाले सभी लोगों का ब्योरा रखना होगा।

छत्तीसगढ़ : छोटे बच्चों और बुजुर्गों को पार्टी में आने पर रोक, ग्रीन पटाखे चला सकेंगे

रायपुर सहित कई शहरों में न्यू ईयर के जश्न में रियायत दी गई है लेकिन डीजे का इस्तेमाल बैन रहेगा। रायपुर के बार, पब, शॉपिंग मॉल या रेस्टोरेंट्स के बार 12 बजे से रात 11:00 बजे तक खुले रहेंगे। थ्री स्टार स्तर के होटल के बार दोपहर 12 बजे से लेकर रात 12 बजे तक खुले रहेंगे। इवेंट्स स्पाॅट की वीडियोग्राफी करानी हाेगी। कोई भी कार्यक्रम पब्लिक प्लेस पर नहीं किया जाएगा। कार्यक्रम रात साढ़े 12 बजे तक खत्म कर दिए जाएंगे। रात 11:55 से 12:30 तक ग्रीन पटाखों का इस्तेमाल हो सकेगा। आयोजकों को पहले ही सोशल मीडिया पर इस बात की जानकारी पोस्ट करनी होगी कि लोग कार्यक्रम स्थल पर ज्यादा भीड़ ना लगाएं। आयोजक अगर इनमें से किसी भी बात का उल्लंघन करते हैं तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

यह फोटो जयपुर के आमेर किले का है। रोशनी से जगमग आमेर को पर्यटकों का इंतजार है। लेकिन नाइट कर्फ्यू के कारण जयपुर में इस साल बेहद कम पर्यटक आए हैं।

Related Posts