विजयवर्गीय ने कमलनाथ और दिग्विजय को फिर चुन्नू-मुन्नू कहा, बोले- 15 महीने दाेनाें ने प्रदेश को लूटा, उनके लिए तो सम्मानजनक शब्द यही हैं

भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि कमलनाथजी को रात में नींद नहीं आती होगी तो प्रदेश की सत्ता में वापस आने के सपने देखते होंगे। सपना देखने में कोई बुराई नहीं है। धरातल में कांग्रेस साफ है। मुझे नहीं लगता कि उपचुनाव में उसे एक भी सीट हासिल होगी। विजयवर्गीय ने कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को चुन्नू-मुन्नू कहने को लेकर कहा कि 15 महीने साजिश के तहत जिस प्रकार से दाेनाें ने प्रदेश को लूटा, उनके लिए तो सम्मानजनक शब्द यही हैं। विजयवर्गीय ब्यावरा से चुनाव प्रचार के बाद बुधवार रात इंदौर लौटे। यहां शाजापुर हाईवे पर कार्यकर्ताओं से मुलाकात भी की।

विजयवर्गीय ने कमलनाथ के मैं भी मर्यादा पुरुषोत्तम के पोस्टर और मुख्यमंत्री शिवराज को नालायक कहने को लेकर कहा कि इससे आदमी का चरित्र पता चलता है। मध्य प्रदेश की राजनीति में कभी भी इतने हल्के शब्दों का प्रयोग नहीं हुआ। जिस प्रकार से कमलनाथजी ने अभी पिछले दिनों में किए हैं। इनसे उनका व्यक्तित्व और चरित्र दोनों पता चलता है।

पत्रकारों से बातचीत में विजयवर्गीय ने पश्चिम बंगाल की स्थिति को लेकर कहा कि वहां पर तो कभी भी किसी भी भाजपा कार्यकर्ता के साथ कुछ भी हो सकता है। ममताजी को ऐसा लगता है कि वहां वापस आ रही हैं। भाजपा टीएमसी के गुंडों के निशाने पर है।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कार्यकर्ताओं के साथ नाश्ता किया और चर्चा की।

सांवेर में विजयवर्गीय ने यह कहा था
विजयवर्गीय ने कहा कि ये दोनों चुन्नू-मुन्नू, दिग्विजय और कमलनाथ बहुत कलाकार हैं। जब 2018 में विधानसभा के चुनाव हो रहे थे तो मैं भी सब जगह प्रचार के लिए जा रहा था। उस समय मैं हेलिकॉप्टर से देखता था कि चुन्नू और मुन्नू की सभा में कितनी कम भीड़ होती थी कि कहीं 50 और कहीं 100 लोग दिखते थे। लोग आते ही नहीं थे इनकी सभा में।

इसके बाद इन्होंने सिंधियाजी को पकड़ा और अपना वचन पत्र थमा दिया। सिंधियाजी खानदानी आदमी। उन्होंने भी चुन्नू-मुन्नू की बातों में आकर बाहें ऊंची कर कह दिया कि हां, किसानों का 2 लाख तक का कर्ज माफ होगा। 8 दिन में हम माफ कर देंगे। 8 दिन निकले, 15 दिन निकले, 8 महीने निकल गए।

सिंधियाजी ने कहा- कमलनाथजी आपने पूरे प्रदेश में मुझसे कहलवाया कि कर्जमाफ होगा। दूधवालों को बोनस मिलेगा। वे कहते अभी जल्दी में हूं, खजाने में पैसा नहीं है। चलो-चलो बाद में देखते हैं। ये चुन्नू-मुन्नू दोनों मुख्यमंत्री बन गए और प्रदेश में ट्रांसफर उद्योग शुरू कर दिया। एक ट्रांसफर कर रहा था, दूसरा नोट गिर रहा था।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

शाजापुर में भाजपा कार्यकर्ताओं ने मालवी पगड़ी पहनाकर कैलाश विजयवर्गीय का स्वागत किया।

Related Posts