12वीं पास तरन्नुम आई कैंडी के नाम से फेमस, टेबल पर खड़े होकर डांस कर अमीरों को फांसती और ड्रग्स के लिए उकसाती थी

ड्रगवाली आंटी के बाद ड्रग देने वाली आफीन चर्चा में है। विजय नगर पुलिस ने ड्रग्स रैकेट से जुड़े दो और आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इसमें एक आंटी उर्फ प्रीति जैन के फरार बेटे यश जैन की गर्लफ्रेंड है। दूसरा आंटी का पैडलर्स जो पहले पब में बार टेंडर का काम करता था। दोनों ही आंटी के रैकेट से जुड़कर पबों में आने वाले युवा और रईस युवकों को ड्रग्स का एडिक्ट बनाकर ग्राहक बनाते थे।

पुलिस के अनुसार गिरफ्तार आई आरोपी युवती का नाम आफीन खान उर्फ तरन्नुम खान और अंकित राय निवासी संविद नगर बंगाली चौराहा है। आफीन यश की गर्लफ्रेंड है। इसके मोबाइल में एक दर्जन से ज्यादा युवकों के नंबर और ड्रग्स को लेकर बातचीत मिली है। इंदौर के हर प्रमुख पब में इसकी फ्री एंट्री रहती थी, क्योंकि ये पबों में नशा करने के बाद मॉडल की तरह टेबल पर खड़े होकर डांस कर युवाओं को आकर्षित करती थी। उनसे दोस्ती कर कोकीन लेने के लिए उकसाती थी।

पुलिस का कहना है कि आफीन के गिरफ्त में आने से कई बड़े खुलासे हो सकते हैं।

सोशल मीडिया पर वीडियो चैट कर आकर्षित करती थी युवाओं को
इधर, आरोपी आफीन के बारे में पुलिस को ये भी जानकारी मिली है कि वह पबों में आने वाले रईस घरों के युवाओं को ड्रग्स एडिक्ट बनाने के साथ उनके साथ सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर अश्लील वीडियो बनाकर और लाइव चैटिंग कर भी आकर्षित कर जाल में फांसती थी। जो उससे ज्यादा कोकिन खरीदते थे, उनसे रात में वीडियो की लाइव चैट कर उन्हें कोकीन लेना भी सिखाती थी। दोनों का पुलिस ने तीन दिन का रिमांड लिया है।

आंटी का बेटा यश अभी फरार है, उस पर रेप का भी केस दर्ज हुआ है।

छोटे कपड़़े पहनकर डांस करती थी
पुलिस रिमांड के दौरान ड्रग आंटी से पता चला था कि वह अपने बेटे यश जैन के साथ मिलकर गिरोह चला रही थी। यश शहर के प्रमुख पब, बार, होटल, रेस्टोरेंट में पार्टी के नाम पर स्कूल-कॉलेज के स्टूडेंट्स को बुलाकर उन्हें नशे की लत लगाता था, बल्कि उन्हें इस धंधे में भी उतार लेता था। पूछताछ में ऐसी ही एक लड़की आफीन उर्फ तरन्नुम का नाम भी सामने आया था। यश के कहने पर वह क्लब, रेस्टोरेंट, पब, बार पार्टियों में युवाओं को ड्रग्स की लत लगाती और उन्हें माल उपलब्ध करवाती थी।

12वीं पास है आफीन, फर्राटेदार इंग्लिश से फंसाती थी रईसों को
सूत्रों के अनुसार आफीन ने 12वीं तक की पढ़ाई की है। माता-पिता के अलग होने के बाद इसकी पढ़ाई बीच में ही छूट गई। पिता जहां विदेश चले गए। वहीं, मां भोपाल में शिफ्ट हो गई। माता-पिता के जाने के बाद भी आफीन इंदौर में ही रही और यहां किराए के फ्लैट में रहते हुए खुद के खर्चें उठाने के लिए वह इस गलत धंधे में आ गई। पब और पार्टियों में जाते हुए उसकी दोस्ती आंटी के बेटे से हुई। इंग्लिश अच्छी बोलने की वजह से वह यश को जम गई और उसकी गर्लफ्रेंड होने के साथ ही उसके कहने पर वह रईसजादों को फंसाने का काम करने लगी।

पुलिस ने आंटी को जेल भेज दिया था।

पब में थी फ्री एंट्री, आई कैंडी के नाम से थी फेमस
आफीन धीरे-धीरे ऐसा नाम हो गया कि उसकी एंट्री पबों में फ्री हो गई। इसके लिए उसे आंटी और यश का पूरा सपोर्ट था। उसे इन जगहों पर आई कैंडी के नाम से जाना जाता था। वैसे पब और बार वाले ऐसी लड़कियों को अपने यहां आने से नहीं रोकते, क्योंकि उन्हें देखकर कई युवा आकर्षित होते हैं और पब-बार में आना जाना शुरू हो जाता है। आफीन भी यहीं पर अपना शिकार खोजा करती थी। वह नए लड़के और लड़कियों को फांसती थी। वह बाथरूम में ले जाकर पहले ड्रग्स की लत लगाती, फिर उन्हें आंटी के जरिए माल उपलब्ध करवाती थी।

आंटी का दोस्त अंकित
अंकित के बारे में पता चला है कि वह कुछ सालों पूर्व भंवरकुआं थाने के पास स्थित पब में बार टेंडर का काम करता था। यह सीधे आंटी से जुड़ा रहा है और पब में आने वाले रईस लड़कों को आंटी से कोकीन लाकर कमीशन जोड़कर बेचता था। आफीन भी जाल में फंसे युवाओं को अंकित का ही नंबर देती थी। एक और नया खुलासा हुआ है ड्रग आंटी एक दोस्त अंकित है, जो कि ड्रग्स बेचने में मदद करता था और आफीन इसी का पता बता दी थी, जिसे भी ड्रग्स चाहिए रहता है। आरोपी से कोकीन खरीदने वाले ओर कई लोगों की जानकारी भी पुलिस को लगी है।

सोशल मीडिया पर हैं लाखों चाहने वाले
सोशल मीडिया पर भी आफीन के लाखों चाहने वाले हैं। सोशल मीडिया के सभी प्लेटफाॅर्म पर उसके डेढ़ लाख के करीब फॉलोअर्स हैं। यह नशे के आदी युवा पीढ़ी में इतनी अधिक फेमस है कि हर कोई इससे मिलना और दोस्ती करना चाहता है। इसी मांग को भुनाते हुए यह बड़े घर के और अमीर घर के लड़कों को देखकर उन्हें ड्रग्स का आदि बनाती थी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

आफीन यश के कहने पर पब और बार में डांस कर युवाओं को अपने जाल में फांसती थी।

Related Posts