19 साल के लड़के ने फांसी लगाई; डेढ़ महीने पहले योजना बनाई, माता-पिता से अलग होकर किराए के मकान में रह रहा था

भोपाल में 19 साल के लड़के ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। उसका शव दिनभर फंदे पर लटका रहा। बात नहीं होने के कारण चाचा सोमवार रात को पुलिस लेकर घर पहुंचे, तब पूरे मामले का खुलासा हुआ। पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मौके से कोई सुसाइड नोट तो नहीं मिला लेकिन पुलिस इसे प्रेम प्रसंग का मामला मानकर जांच कर रही है। क्योंकि वह करीब डेढ़ महीने पहले माता-पिता को छोड़कर अलग किराए से रह रहा था।

पुरुषोत्तम नगर, सेमरा निवासी 45 वर्षीय राजीव पवार प्राइवेट जॉब करते हैं। उन्होंने बताया कि उनके बड़े भाई मुन्नालाल पवार का 19 साल का सबसे छोटा बेटा राजकुमार पवार मकान नंबर 81 फेस-वन कैलाश नगर अशोका गार्डन में किराए से कमरा लेकर रह रहा था। वह यहां चार-पांच दिन पहले ही आया था, जबकि इससे पहले वह कहीं और रह रहा था।

सोमवार रात एक परिचित ने उन्हें फोन कर बताया कि राजकुमार के कमरे का सुबह से ही दरवाजा नहीं खुला है। अंदर से भी कोई आवाज नहीं आई है। यह सुनकर राजीव मौके पर पहुंचे और उन्होंने मोहल्ले वालों के साथ रोशनदान से अंदर झांककर देखा तो राजकुमार फांसी पर लटका हुआ दिशा। उन्होंने राजकुमार के माता-पिता के साथ पुलिस को घटना की सूचना दी।

पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़कर शव बरामद कर उसे पोस्टमार्टम के लिए हमीदिया भिजवा दिया। पुलिस के अनुसार, शुरुआती जांच में पता चला है कि यह प्रेम प्रसंग का मामला है। इसके कारण वह अपने मां-बाप से अलग रह रहा था। हालांकि कोई सुसाइड नोट नहीं मिलने से आत्महत्या के असल कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। पुलिस को आशंका है कि उसने करीब डेढ़ महीने पहले ही सुसाइड की योजना बनाकर माता-पिता से अलग हो गया।

दो भाइयों में छोटा था
राजीव ने बताया कि उनके बड़े भाई के दो लड़के और दो लड़कियां हैं। दो बेटों में राजकुमार छोटा बेटा था। वह एक फैक्ट्री में काम करता था। पुलिस का कहना है कि मौके से अब तक किसी तरह की कोई चीज नहीं मिली है, जिससे खुदकुशी के कारणों का पता चल सके। सबसे बड़ा सवाल है कि वह घर छोड़कर बाहर किराए के मकान में क्यों रह रहा था? ऐसे में पुलिस मां-बाप से पूछताछ कर खुदकुशी के कारणों का पता लगाने का प्रयास करेगी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

अशोका गार्डन पुलिस को आशंका है कि योजना के तहत ही राजकुमार ने माता-पिता से अलग होकर किराए का मकान लिया।

Related Posts