खबर उड़ी कि सेना ने POK में हमला बोल दिया है, थोड़ी देर बाद सेना का बयान- आज तो गोली चली ही नहीं

गुरुवार शाम करीब 7 बजे अचानक टीवी चैनलों पर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर यानी PoK में भारतीय सेना की एयर स्ट्राइक की खबरें आईं। हालांकि, 10-15 मिनट में ही एयरस्ट्राइक की खबरें हटा ली गईं और बताया गया कि सेना ने PoK में पिनपॉइंट स्ट्राइक की है। इन खबरों के बाद सेना ने एक बयान जारी किया है। इसमें कहा गया है कि लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पर आज कोई भी फायरिंग नहीं हुई है।

न्यूज एजेंसी PTI ने पिनपॉइंट स्ट्राइक की खबर दी है। इसमें कहा गया है कि भारतीय सेना ने PoK में चुनिंदा आतंकी लॉन्चपैड्स को निशाना बनाया है। ज्यादातर पाकिस्तानी और विदेशी आतंकवादी ढेर हुए हैं और इस ऑपरेशन में भारत को न के बराबर नुकसान हुआ है। दिन और वक्त का जिक्र इस खबर में नहीं है।

पाकिस्तान आतंकियों की घुसपैठ की फिराक में, इसलिए हमले हो रहे
सर्दियों का मौसम दस्तक दे चुका है। ठंड और बढ़ने से पहले पाकिस्तान की सेना ज्यादा से ज्यादा आतंकियों की भारत में घुसपैठ कराना चाहती है। इसी वजह से भारत ऐसे संदिग्ध ठिकानों पर हमले कर रहा है, जो आतंकियों के लॉन्च पैड हो सकते हैं।

पाकिस्तान LoC पर गोले दाग रहा
पिछले कुछ हफ्तों से पाकिस्तान की सेना LoC पर गोले दाग रही है और भारत के रिहाइशी इलाकों को निशाना बना रही है। भारी तोपों से गोले दागे जाने की आड़ में वह आतंकियों की घुसपैठ में मदद कर रही है। 2019 में पाकिस्तान की गोलाबारी में 18 आम लोग मारे गए थे। इस बार यह आंकड़ा 21 मौतों का है।

जम्मू-कश्मीर में अस्थिरता के लिए नया पैटर्न अपना रहा पाकिस्तान

दरअसल, पाकिस्तान अब जम्मू-कश्मीर में अस्थिरता लाने के लिए नया पैटर्न अपना रहा है। युवाओं को हथियार दिए जा रहे हैं ताकि पाकिस्तान के इन्वॉल्मेंट का पता न लगाया जा सके, क्योंकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान पर दबाव ज्यादा है। ऐसे में पाकिस्तान सीमा पर भारतीय ग्रामीणों को निशाना बना रहा है।

पिछले साल 26 फरवरी को पहली एयर स्ट्राइक
पिछले साल 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के जवाब में भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाक अधिकृत कश्मीर (POK) में एयरस्ट्राइक की थी। इस एयरस्ट्राइक में वायुसेना के 12 मिराज-2000 फाइटर जेट ने बालाकोट, चकोटी और मुजफ्फराबाद में बम गिराए थे। इसमें 300 से ज्यादा आतंकी मारे गए थे। वायुसेना ने इस पूरे मिशन को ‘ऑपरेशन बंदर’ नाम दिया था।

29 सितंबर 2016 को पहली सर्जिकल स्ट्राइक
18 सितंबर 2016 को जम्मू-कश्मीर के उड़ी सेक्टर में आतंकियों ने आर्मी कैम्प पर हमला किया। इस हमले में 18 जवान शहीद हुए थे। इसके जवाब में 29 सितंबर की रात सेना ने POK में 3 किमी अंदर जाकर आतंकियों के ठिकानों पर हमला किया था। ऐसा पहली बार हुआ था, जब भारत ने आतंकियों के खिलाफ पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में घुसकर कार्रवाई की थी। इस स्ट्राइक में 40 से 50 आतंकी मारे गए थे।

हम इसे लगातार अपडेट कर रहे हैं..

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

फोटो 13 नवंबर की है, जब इंडियन आर्मी ने POK में कई आतंकी लॉन्च पैड को तबाह किया था।

Related Posts