गमों की इंतेहा नहीं, शवों के लिए श्मशान नहीं:गाजियाबाद में फुटपाथ पर जल रहीं चिताएं, कर्नाटक में घरों और खेतों में अंतिम संस्कार की इजाजत देनी पड़ी