मांझी के पास दो गाय, दो कार और दो बंदूकें, 21 हजार का बिजली बिल बकाया; पांच साल में 18.61 लाख घट गई संपत्ति

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के चीफ जीतन राम मांझी ने बुधवार को गया जिले के इमामगंज से विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल किया। नामांकन में जो जानकारी दी गई है, उसके मुताबिक मांझी की संपत्ति पांच साल में 18.61 लाख रुपए घट गई।

2015 के चुनाव में दिए गए शपथ पत्र में मांझी ने अपनी चल संपत्ति 36.42 लाख रुपए बताई थी। 2020 में उन्होंने अपनी चल संपत्ति 24.24 लाख रुपए बताई है। अचल संपत्ति के नाम पर मांझी के पास महकार में पुश्तैनी घर है। मांझी ने 2015 में इसकी कीमत 13 लाख रुपए बताई थी। 2020 में उन्होंने अपने घर की कीमत 12 लाख रुपए बताई है। मांझी के पास एक दोनाली बंदूक और एक राइफल है। मांझी पर 21 हजार 317 रुपए का बिजली बिल बकाया है।

बंदूक की कीमत तो वही है, राइफल की 5 साल में 5 हजार घट गई

मांझी की दोनाली बंदूक की कीमत पिछले चुनाव के वक्त 30 हजार रुपए थी और इस बार भी इसकी कीमत उन्होंने 30 हजार ही बताई है। दूसरी बंदूक है 1.315 राइफल। इसकी कीमत 2015 में 70 हजार रुपए थी और अब इसकी कीमत 65 हजार रुपए हो गई है।

5 साल में एम्बेसेडर की कीमत 15 हजार घटी, तो स्कॉर्पियो की 1 लाख बढ़ी

जैसे 5 साल में मांझी की दो बंदूकों में से एक की कीमत बढ़ी और एक की घटी है। वैसे ही दो कारों में से भी एक की कीमत बढ़ी और एक की घट गई है। मांझी के पास जो एम्बेसेडर कार है, उसकी कीमत 2015 में 1.25 लाख थी और अब 1.10 लाख है। जबकि, स्कॉर्पियो की कीमत पिछले चुनाव के समय 4.5 लाख रुपए थी, जिसकी कीमत अब 1 लाख रुपए बढ़कर 5.5 लाख रुपए हो गई है।

जीतन राम मांझी की संपत्ति

संपत्ति 2020 का शपथपत्र 2015 का शपथपत्र
नकद 40,500 रुपए 2.50 लाख रुपए
बैंक बैलेंस 15.28 लाख रुपए 27.17 लाख रुपए
गाड़ी एम्बेसेडर कार (कीमत 1.10 लाख), स्कॉर्पियो (कीमत 5.50 लाख) एम्बेसेडर कार (कीमत 1.25 लाख), स्कॉर्पियो (कीमत 4.50 लाख)
हथियार दोनाली बंदूक (कीमत 30 हजार), 1.315 राइफल (कीमत 65 हजार) दोनाली बंदूक (कीमत 30 हजार), 1.315 राइफल (कीमत 70 हजार)
मवेशी दो गायें नहीं
कुल चल संपत्ति 24.24 लाख 36.42 लाख
अचल संपत्ति महकार में पुश्तैनी घर (कीमत 12 लाख) महकार में पुश्तैनी घर (कीमत 13 लाख)
कुल संपत्ति (चल+अचल) 44.38 लाख 62.99 लाख

2015 में मांझी पर एक भी केस नहीं था, अब 6 मामले

2015 के चुनाव के वक्त मांझी ने अपने ऊपर एक भी आपराधिक केस नहीं होने की जानकारी दी थी। जबकि, इस बार उन्होंने बताया है कि उनके ऊपर 6 केस चल रहे हैं। सभी केस गया में दर्ज हैं। मांझी के एफिडेविट के मुताबिक, उनके ऊपर 2014 के लोकसभा चुनाव और 2015 के विधानसभा चुनाव के वक्त आचार संहिता का उल्लंघन करने के दो मामले दर्ज हैं।

पत्नी की संपत्ति 5 साल में 4 लाख कम हुई, गहने बढ़े

मांझी की पत्नी शांति देवी की संपत्ति 5 साल में 4 लाख रुपए से ज्यादा कम हो गई। 2015 में मांझी ने जब एफिडेविट दाखिल किया था, तो उन्होंने पत्नी की संपत्ति 12.27 लाख रुपए थी। जबकि, इस बार जो उन्होंने एफिडेविट दाखिल किया है, उसमें पत्नी की संपत्ति 8.14 लाख रुपए बताई है।

हालांकि, इन 5 सालों में पत्नी के पास गहने बढ़ गए हैं। 2015 में पत्नी के पास 80 ग्राम सोना था, जिसकी कीमत 2.40 लाख रुपए थी और अब 100 ग्राम सोना है, जो 4 लाख रुपए की कीमत का है। हालांकि, चांदी अभी भी एक किलो ही है। बस इसकी कीमत बढ़ी है। पहले एक किलो चांदी की कीमत 50 हजार रुपए थी और अब 60 हजार रुपए।

जीतन राम मांझी की पत्नी शांति देवी के नाम संपत्ति

संपत्ति 2020 का शपथपत्र 2015 का शपथपत्र
नकद 48 हजार 50 हजार
बैंक बैलेंस 3 लाख 8.87 लाख
गहना गोल्ड ज्वेलरी 100 ग्राम (कीमत 4 लाख), चांदी एक किलो (60 हजार) गोल्ड ज्वेलरी 80 ग्राम (कीमत 2.40 लाख), चांदी एक किलो (50 हजार)
कुल चल संपत्ति 8.14 लाख 12.27 लाख

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

इमामगंज से चुनाव लड़ने के लिए नामांकन दाखिल करते जीतन राम मांझी।

Related Posts