श्मशान में छत गिरने से 21 की मौत; जिसका अंतिम संस्कार था, उसके बेटे की भी मलबे में दबकर जान गई

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में रविवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां मुरादनगर के श्मशान में अंतिम संस्कार के दौरान गैलरी की छत गिरने से कई लोग दब गए। इनमें 21 की मौत हो गई, 24 घायल हैं। ये सभी बारिश से बचने के लिए छत के नीचे खड़े थे। जिस शख्स का दाह संस्कार चल रहा था, हादसे में उनके एक बेटे की भी मौत हुई है।

श्मशान घाट पर मुरादनगर के फल कारोबारी जयराम (65) का अंतिम संस्कार किया जा रहा था। अंतिम संस्कार के दौरान सभी लोग गेट से सटी गैलरी में खड़े थे। इसी दौरान यह हादसा हो गया। ढाई माह पहले ही यहां गैलरी बनाई गई थी। लोगों का आरोप है कि गैलरी बनाने में घटिया मटेरियल का इस्तेमाल हुआ था।

जयराम के पोते देवेंद्र ने बताया कि जब दादा का अंतिम संस्कार हो रहा था। बारिश हो रही थी तो काफी लोग दूर शेड के नीचे खड़े हो गए। इसी दौरान छत गिर गई और वहां खड़े सभी लोग दब गए। हादसे में देवेंद्र के चाचा की भी मौत हो गई है। एक भाई मलबे के नीचे दब गया था और पिता भी घायल हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने दुख जताया

मृतकों के परिवारों को सरकार 2-2 लाख की मदद देगी

हादसे के बाद NDRF की टीम रेस्क्यू में जुटी। बारिश की वजह से उसे दिक्कतें भी आईं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपए की आर्थिक मदद देने के निर्देश दिए हैं। साथ ही पुलिस और प्रशासन से रिपोर्ट मांगी है।

हादसे के बाद NDRF की टीम पहुंचने से पहले वहां मौजूद लोगों ने ही मलबे में दबे घायलों को निकालने का काम किया।
रेस्क्यू में जुटी NDRF और पुलिस की टीम।
मलबे में लोगों को तलाशती रेस्क्यू टीम।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

लोग बारिश से बचने के लिए लैंटर के नीचे खड़े थे, अचानक लैंटर गिर गया। NDRF की टीम रेस्क्यू में जुटी है।

Related Posts