गूगल ने वर्क फ्रॉम होम सुविधा सितंबर 2021 तक बढ़ाई, उसके बाद कर्मचारी 3 दिन ऑफिस और बाकी दिन घर से काम कर सकेंगे

गूगल ने वर्क फ्रॉम होम सुविधा का विस्तार सितंबर 2021 तक कर दिया है। उसके बाद जब ऑफिस खुलेगा, तब कर्मचारी सिर्फ 3 दिन ऑफिस आ सकते हैं और बाकी दिन घर से काम कर सकते हैं। यह बात विभिन्न मीडिया रिपोर्टों में सोमवार को कही गई।

न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक अल्फाबेट और गूगल के CEO सुंदर पिचई ने कर्मचारियों को एक ईमेल में लिखा है कि कंपनी फुल हाइब्रिड वर्कफोर्स मॉडल को अपना रही है। कंपनी इस हाइपोथिसिस का परीक्षण कर रही है कि फ्लेक्सिबल वर्क मॉडल से प्रॉडक्टिविटी और कॉलेबोरेशन बढ़ेगा और सेहत बेहतर होगी। नई समय सीमा कंपनी के करीब सभी 2,00,000 कर्मचारियों पर लागू होगी।

गूगल 2021 की दूसरी छमाही में अपने कर्मचारियों के लिए कोविड-19 वैक्सीन उपलब्ध करा पाएगी

ईमेल में कहा गया कि हमारे स्केल की किसी कंपनी ने कभी भी पूरी तरह से हाइब्रिड वर्क फोर्स मॉडल को नहीं अपनाया, हालांकि कुछ कंपनियों ने इस पर परीक्षण शुरू किया है। इसलिए इसे आजमाना मेजदार होगा। गूगल को उम्मीद है कि 2021 की दूसरी छमाही में वह अपने कर्मचारियों के लिए कोविड-19 वैक्सीन उपलब्ध करा पाएगी। लेकिन पूरी दुनिया में हाई-रिस्क और हाई-प्रायोरिटी वाले लोगों को वैक्सीन मिलने के बाद ही वह ऐसा कर पाएगी।

ट्विटर ने अपने कर्मचारियों को हमेशा के लिए घर से काम करने की सुविधा दे दी है

मई में गूगल ने कहा था कि जिन कर्मचारियों के काम में गुंजाइश होगी, उन्हें वह अगले साल के मध्य तक वर्क फ्रॉम होम की इजाजत देगी। इससे पहले कंपनी ने अपने कर्मचारियों के ऑफिस लौटने के लिए जनवरी 2021 की समय सीमा तय की थी। गौरतलब है कि ट्विटर ने अपने कर्मचारयों को यदि वे चाहें तो हमेशा के लिए घर से काम करने की इजाजते दे दी है। मई में फेसबुक के CEO मार्क जुकरबर्ग ने भी रिमोट वर्क प्लान बनाया था, जिसके तहत उसके 50,000 कर्मचारियों में से करीब आधे 2030 तक घर से काम कर सकेंगे। इनके बाद गूगल पहली प्रमुख टेक कंपनी थी, जिसने अपने कर्मचारियों को अगले साल तक मध्य तक घर से काम करन की सुविधा दी थी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

गूगल के CEO सुंदर पिचई ने कर्मचारियों को एक ईमेल में लिखा कि कंपनी इस हाइपोथिसिस का परीक्षण कर रही है कि फ्लेक्सिबल वर्क मॉडल से प्रॉडक्टिविटी और कॉलेबोरेशन बढ़ेगा और सेहत बेहतर होगी

Related Posts