निवेश वाली नागरिकता:विदेश में रिहाइश ढूंढने वालों में भारतीय रईस सबसे आगे; दूसरे नंबर पर अमेरिकी, तीसरे नंबर पर हैं पाकिस्तानी

रईसों को शानोशौकत वाले रहन-सहन और एसेट डायवर्सिफिकेशन का फायदा मिलता है, यूरोपियन यूनियन जैसे एरिया में बेहतर एक्सेस हासिल होता है,दुबई, हांगकांग और सिंगापुर में NRI की बड़ी तादाद है, यहां ये परमानेंट रेजिडेंसी या सिटीजनशिप नहीं मिलने की सूरत में निवेश वाला ऑप्शन खुला रखते हैं

Related Posts