मार्केट कैप के लिहाज से टॉप-10 में बजाज फाइनेंस और इन्फोसिस की रैंकिंग सुधारी, मार्च से अबतक RIL का प्रदर्शन सबसे बेहतर

कोरोना के पहले और कोरोना के दौरान शेयर बाजार में मार्केट कैप के लिहाज से टॉप-10 कंपनियों की रैंकिंग में बदलाव हुआ है। वर्तमान में देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज है। कंपनी का मार्केट कैप 13 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंच गया है। दूसरी रैंक पर टाटा ग्रुप की आईटी कंपनी टीसीएस है। कंपनी का मार्केट कैप 10 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंच गया है। इसी साल 9 मार्च को रैंकिंग में टॉप पर टीसीएस था। रिटर्न के लिहाज से RIL के शेयरों ने सबसे बेहतर प्रदर्शन किया है।

रिलायंस का मार्केट कैप सबसे ज्यादा बढ़ा

रिटेल वेंचर्स और जियो प्लेटफॉर्म में भारी निवेश के चलते रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैप पहली बार 15 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंचा था। इस स्तर पर पहुंचने वाली RIL पहली कंपनी है। 9 मार्च से 23 नवंबर के बीच RIL का मार्केट कैप 6.14 लाख करोड़ रुपए बढ़ा है। वहीं, टीसीएस का मार्केट कैप 2.82 लाख करोड़ रुपए बढ़ा। टीसीएस 10 लाख करोड़ रुपए के मार्केट कैप वाली देश की दूसरी कंपनी बन गई है। इससे पहले रिलायंस ने इस स्तर को पार किया था।

इन्फोसिस और बजाज फाइनेंस की रैंकिंग में सुधार

आईटी और बैंकिंग शेयरों में शानदार तेजी के चलते सेक्टर की कंपनियों का मार्केट कैप भी तेजी से बढ़ा है। आईटी कंपनी इन्फोसिस का मार्केट कैप साढ़े नौ महीने में 1.86 लाख करोड़ रुपए बढ़ा है। इससे कंपनी टॉप-10 में 5वें स्थान पर पहुंच गई, जो 9 मार्च को 7वें स्थान पर थी। बैंकिंग सेक्टर में एचडीएफसी बैंक का मार्केट कैप 1.64 लाख करोड़ रुपए बढ़ा है। वहीं, कोटक बैंक का मार्केट कैप 73 हजार करोड़ रुपए बढ़ा। बजाज फाइनेंस का मार्केट कैप भी 48 हजार करोड़ रुपए बढ़ा, 9 मार्च को कंपनी लिस्ट में10वें स्थान पर थी, जो अब 9वें पर है।

  • कमाई के मामले में अंबानी हुए पीछे, गौतम अडाणी ने हर रोज कमाया 456 करोड़ रुपए

RIL ने दिया सबसे बेहतर रिटर्न

देश की 10 सबसे बड़ी कंपनियों में सबसे बेहतर रिटर्न रिलायंस के शेयर ने दिया। 9 मार्च से 23 नवंबर के दौरान शेयर ने निवेशकों को 75% की रिटर्न दिया है। सोमवार को शेयर 1950 रुपए पर बंद हुआ है, 16 सितंबर को 2368 रुपए प्रति शेयर पर पर पहुंच गया था। यह शेयर का सर्वोच्च स्तर है। इन्फोसिस के शेयर ने इस दौरान 54% का रिटर्न दिया। टीसीएस ने निवेशकों को 28% का रिटर्न दिया।

बाजार का शानदार प्रदर्शन

बाजार के प्रमुख इंडेक्स में साढ़े नौ महीने में शानदार तेजी दर्ज की गई। 9 मार्च से 23 नवंबर के दौरान निफ्टी आईटी इंडेक्स 48% बढ़ा है। इसी दौरान BSE सेंसेक्स और निफ्टी 50 इंडेक्स में भी 23-23 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है। बाजार में बढ़ते विदेशी निवेश के चलते नवंबर माह के लगभग हर दिन नए रिकॉर्ड बन रहे। 18 नवंबर को पहली बार सेंसेक्स 44,180 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं, 23 नवंबर को इंडेक्स ने 44,271 के स्तर को टच किया, जो इंट्राडे के लिहाज से इंडेक्स का सर्वोच्च स्तर है।

  • अमेरिकी चुनाव और वैक्सीन की खबरों से बाजार ने मनाई दिवाली; नवंबर में अबतक सेंसेक्स 4200+ अंक ऊपर चढ़ा

आगे भी बढ़त की उम्मीद

दिग्गज शेयरों पर ब्रोकरेज हाउसेस का भरोसा बना हुआ है। केआर चौकसी के एमडी देवेन चौकसी ने एचडीएफसी बैंक पर खरीदारी की सलाह दी है। टीसीएस और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों पर भी निवेशकों का भरोसा बना हुआ है। ग्लोबल फर्म मॉर्गन स्टैनली ने सेंसेक्स पर 59 हजार का लक्ष्य दिया है। इसके लिए दिसंबर 2021 तक का समय दिया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

RIL TCS To Bajaj Finance Kotak Bank; Top 10 Market Capitalization Companies Ranking 2020 Update

Related Posts