मार्च के मुकाबले 80% ऊपर जा चुके शेयर बाजार में 3 वजहों से भारी गिरावट, इस महीने यही ट्रेंड रहेगा

BSE सेंसेक्स में हफ्ते के पहले कारोबारी दिन कोहराम मच गया। सेंसेक्स अंत में 1,400 अंक से ज्यादा गिरकर बंद हुआ। दोपहर में इसमें एक समय 2 हजार अंकों की गिरावट थी। मार्केट कैप में एक ही दिन में करीबन 7 लाख करोड़ रुपए की कमी आई है। क्वालिटी वाले शेयरों में ज्यादा गिरावट है तो आप खरीदारी कर सकते हैं। लेकिन सावधानी बरतनी जरूरी है, क्योंकि महीने के अंत तक बाजार में उतार-चढ़ाव ज्यादा रह सकता है।

बाजार में गिरावट की 3 वजह

1. मुनाफा वसूली: दरअसल पिछले दो तीन महीनों में बाजार बहुत ज्यादा बढ़ चुका था। हालांकि, मार्च के स्तर से तो यह करीबन 80% ऊपर था। मार्च में सेंसेक्स 25 हजार से ऊपर था। दिसंबर में यह 47 हजार तक जा चुका है। इस उछाल की वजह से शेयरों की कीमतें काफी बढ़ गई थीं। जाहिर सी बात है कि निवेशकों को इस समय कमाई का मौका था और उन्होंने शेयरों की बिक्री कर दी। आज बाजार में इसी मुनाफा वसूली का ज्यादा असर देखा गया, जिससे गिरावट आई।

2. ब्रिटेन में कोरोना का नया रूप: ब्रिटेन में कोरोना का दूसरा स्ट्रेन देखा गया है। बढ़ते मामलों की वजह से भारत समेत कई देशों ने ब्रिटेन के लिए फ्लाइट्स को बंद कर दिया है। सऊदी अरब ने तो एक हफ्ते के लिए सभी इंटरनेशनल फ्लाइट्स बंद कर दी हैं। माना जा रहा है कि कोरोना अगर बढ़ता है तो फिर से एक बार इसका अर्थव्यवस्था पर असर पड़ सकता है।

3. बाजार पर दबाव: बाजार अभी तक पूरी तरह से लिक्विडिटी पर चल रहा था। अब दिसंबर के अंतिम हफ्ते में क्रिसमस की छुट्‌टी, विदेशी निवेशकों द्वारा निवेश निकालने की आशंका के कारण बाजार पर दबाव देखा गया। अभी तक लगातार FII निवेश कर रहे थे। पर इस हफ्ते में निवेश रुक सकता है। 50 दिनों बाद पहली बार आज पैसे निकाले हैं। आज शुद्ध रूप से 323 करोड़ रुपए के शेयर बेचे हैं।

मार्च में कोरोना की वजह से गिरावट थी

मार्च में दरअसल भारत में कोरोना के चलते लॉकडाउन लगा था। तब पूरी तरह से आर्थिक गतिविधियां बंद हो गई थी। इसलिए उस समय बाजार में भारी गिरावट आई। पर उसके बाद जैसे-जैसे अर्थव्यवस्था खुली, बाजार में तेजी आई।

कल कुछ रिकवरी हो सकती है

आनंद राठी सिक्योरिटीज के रिसर्च हेड नरेंद्र सोलंकी कहते हैं कि आज जो बाजार में गिरावट आई है, उतनी गिरावट कल नहीं आएगी। हो सकता है कि 100-200 प्वाइंट की गिरावट हो या फिर यह भी हो सकता है कि आज की गिरावट का कुछ हिस्सा कल रिकवर हो जाए। वे कहते हैं कि जैसे आज ही 600 अंकों की रिकवरी हुई है। बाजार दोपहर में 2 हजार अंक गिरा फिर 600 अंक रिकवर होकर बंद हुआ।

बिकवाली का असर दिखा है

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के सुभाष गंगाधरन कहते हैं कि बिकवाली के दबाव से बाजार पर असर दिखा है। इंडेक्स में शॉर्ट टर्म में गिरावट आ सकती है। कोटक सिक्योरिटीज के एमडी जयदीप हंसराज कहते हैं कि यूके और यूरोप में कोरोना के नए मामलों का असर भारतीय बाजार पर दिखा है। यूरोपियन बाजार में भी इसका असर दिखा है। एशिया में हांगकांग भी कर्फ्यू और बंद करने पर विचार कर रहा है। FII का निवेश कम हो सकता है। इस वजह से पिछले 50 दिनों से भारतीय बाजार में चल रही तेजी की रैली रुक गई। यह रैली अमेरिकी चुनाव के बाद से शुरू हुई थी।

निवेशक क्वालिटी शेयरों में पैसा लगाएं

निवेशक क्वालिटी वाले शेयरों में खरीदी करें। जिनमें आज काफी गिरावट दिखी है। एक्सिस सिक्योरिटीज, आईडीबीआई कैपिटल, कोटक सिक्योरिटीज ने भारती एयरटेल को खरीदने की सलाह दी है। यह शेयर 2021 में बेहतर रिटर्न देने वालों में शामिल होगा। इसके अलावा TCS, इंफोसिस, SBI, ICICI, एशियन पेंट्स, कोटक महिंद्रा बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसे शेयर अच्छा रिटर्न दे सकते हैं।

आज कौन से शेयरों में गिरावट आई

टूरिज्म और हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में होटल कंपनियों के शेयरों में गिरावट रही। ऑटो शेयरों में टाटा मोटर्स 5%, महिंद्रा 4%, स्पाइसजेट में 10%, इंडिया बुल्स हाउसिंग में 9.48%, अशोक लेलैंड 3% और एस्कार्ट के शेयरों में गिरावट रही। कैनरा बैंक में 10% की गिरावट रही। इसी तरह RBL बैंक के शेयरों में 9.25%, ONGC में 9.9%, महाराष्ट्र बैंक भेल में 9%-9% की गिरावट रही। अदाणी ग्रुप के शेयरों में 7% की गिरावट रही। पीएनबी, हिंडालको में 7%, SBI और PFC में 6 पर्सेंट की गिरावट रही।

प्राइवेट कंपनियों में देश की दिग्गज कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर ढाई पर्सेंट, TCS 1.5%, एचडीएफसी बैंक 2.75% टूट कर बंद हुआ। टाटा स्टील का शेयर 6%, एक्सिस बैंक का शेयर 4.40%, ICICI बैंक, बजाज फिनसर्व का 4-4% HDFC लाइफ का शेयर 4% टूट कर बंद हुआ।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Stock Market Down Today; Know How You Could Make a Profit From Falling Stock Prices

Related Posts