शापुर पालन जी मिस्त्री की बेटी दुबई में, मुंबई के बैंक से डेबिट कार्ड से 90 हजार रुपए ठगों ने किया गायब, मामला दर्ज

शापुर पालनजी मिस्त्री की बेटी के बैंक खाते से डेबिट कार्ड से 90 हजार रुपए ठगों ने ठग लिए हैं। आश्चर्यजनक यह है कि मिस्त्री की बेटी दुबई में रहती हैं। पैसा उनके मुंबई के कुलाबा इलाके की एक बैंक से डेबिट कार्ड के जरिए गायब हुआ है। इसकी शिकायत स्थानीय पुलिस स्टेशन में कराई गई है।

साइबर फ्रॉड के तहत मामला दर्ज

पुलिस ने मंगलवार को बताया कि यह मामला साइबर फ्रॉड के तहत दर्ज किया गया है। जांच जारी है। यह घटना तब सामने आई जब मिस्त्री की कंपनी के डीजीएम (अकाउंट) जयेश मर्चेंट ने मोबाइल फोन पर 90 हजार रुपए निकाले जाने का मैसेज प्राप्त किया। शिकायत के मुताबिक मिस्त्री की 62 वर्षीय बेटी लैला रुस्तम जहांगीर दुबई में रहती हैं। जिस खाते से ठगी हुई यह खाता उनके नाम है। मिस्त्री की दो बेटियां हैं। लैला दुबई में कंस्ट्रक्शन का काम करती हैं। उन्होंने मुंबई के बैंक खाते को मैनेज करने का काम अपने पिता को दिया है।

लैला का खाता कंपनी के डीजीएम मैनेज करते हैं

लैला के पिता ने 2018 में अपनी कंपनी के डायरेक्टर फिरोज को ओवरसीज फाइनेंशियल गतिविधियों के लिए अकाउंट की जिम्मेदारी दी थी। खाते को मैनेज करने की जिम्मेदारी उन्होंने जयेश मर्चेंट को दे दी। मर्चेंट का ही मोबाइल नंबर इस खाते के साथ लिंक है। जिसके बाद यह मैसेज उनके मोबाइल फोन पर आया। चूंकि यह बैंक खाता काफी पुराना है, इसलिए इसमें केवल चेक से ही ट्रांजेक्शन होता है।

पैसा कटने के मैसेज के बाद शुरू हुई जांच

जयेश मर्चेंट ने नकदी निकासी का मैसेज प्राप्त करने के बाद इसकी जानकारी बैंक को दी। बैंक ने बताया कि 90 हजार रुपए निकाले गए हैं। यह पैसा कई बार में निकाला गया है। इसके लिए डेबिट कार्ड का उपयोग किया गया है। इसके बाद मर्चेंट ने इसकी शिकायत कुलाबा पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई है। शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज की गई है। इसमें चीटिंग के साथ कई धाराएं लगाई गई हैं।

आपके साथ भी यह हो सकता है

दरअसल इस तरह की कहानी आम हो गई है। आप का खाता किसी भी बैंक में हो, आपके साथ भी यह घटना हो सकती है। बैंकिंग फ्रॉड में आजकल नए-नए तरीके अपनाए जा रहे हैं। रेगुलेटर आरबीआई हमेशा इस बारे में सावधान करता है। उसका कैंपेन आरबीआई कहता है बहुत ही चर्चित है जिसमें फ्रॉड से बचने के तरीके बताए जाते हैं।

कैसे बचें इस तरह के फ्रॉड से

आरबीआई और बैंकिंग सेक्टर के जानकार कहते हैं कि आप इंटरनेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग का उपयोग करते हैं तो आपको बहुत सावधानी रखनी होगी। किसी भी हालत में अपने किसी भी दोस्त को क्रेडिट या डेबिट कार्ड की डिटेल्स न दें। किसी भी पब्लिक वाई फाई या इंटरनेट नेटवर्क से अपने बैंकिंग ट्रांजेक्शन न करें। बैंकिंग खाते को हमेशा मोबाइल नंबर के साथ अपडेट करें। बैंकिंग डिटेल्स जैसे डेबिट कार्ड की सीवीवी, नंबर या पिन मोबाइल में न रखें।

ऑन लाइन के लिए अलग से खाता रखें

आप किसी भी पेमेंट ऐप को बहुत ज्यादा अधिकार न दें। आप को चाहिए कि इंटरनेट बैंकिंग या ऑन लाइन बैंकिंग के लिए एक ऐसा खाता रखें जिसमें महज कुछ हजार रुपए हों। ताकि अगर ऐसी घटना हो तो आपका बड़ा नुकसान होने से बच जाए। हमेशा अपने मेन बैंक अकाउंट को कहीं भी लिंक करने से बचें। साथ ही आप बैंकिंग कस्टमर केयर की जानकारी रखें और ऐसी घटना होने पर तुरंत कार्ड ब्लॉक करें।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

हमेशा अपने मेन बैंक अकाउंट को कहीं भी लिंक करने से बचें। साथ ही आप बैंकिंग कस्टमर केयर की जानकारी रखें और ऐसी घटना होने पर तुरंत कार्ड ब्लॉक करें

Related Posts