TCS के पहले CEO फकीरचंद कोहली का निधन, IBM को भी भारत लाने में अहम भूमिका रही

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस (TCS) के फाउंडर और कंपनी के पहले CEO फकीर चंद कोहली का गुरुवार को निधन हो गया। वे 96 साल के थे। उन्हें फादर ऑफ इंडियन सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री भी कहा जाता है। दिग्गज आईटी कंपनी IBM को 1991 में भारत में लाने के फैसले में भी उन्होंने बड़ा रोल प्ले किया था। उस समय टाटा-IBM के नाम से बनी कंपनी हार्डवेयर मैन्युफैक्चरिंग करती थी।

  • 28 लिस्टेड कंपनियों में से 8 का मार्केट कैप सबसे ज्यादा, TCS सबसे ज्यादा मुनाफे वाली

भारत में टेक्नोलॉजी रिवॉल्यूशन लाने का श्रेय कोहली को दिया जाता है। देश में 100 बिलियन डॉलर की आईटी इंडस्ट्री खड़ी करने में उनकी भूमिका बेहद अहम थी। उन्हें 2002 में पद्मभूषण से सम्मानित किया गया था। TCS ने उनके निधन पर श्रद्धांजलि दी।

  • रतन टाटा ने सोशल मीडिया में ताज होटल की तस्वीर के साथ लिखा भावनात्मक पोस्ट, टाइटल दिया ‘हम याद रखेंगे’

पेशावर में जन्मे, कनाडा-अमेरिका में पढ़े

कोहली का जन्म पाकिस्तान के पेशावर में 28 फरवरी 1924 में हुआ था। उन्होंने पंजाब यूनिवर्सिटी के लाहोर गवर्नमेंट कॉलेज से BA और BSc किया। इसके बाद वे कनाडा चले गए। वहां क्वीन्स यूनिवर्सिटी से 1948 में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया। उन्होंने 1950 में मेसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) से MS भी किया। इसके बाद वे 1951 में भारत लौट आए और टाटा इलेक्ट्रिक कंपनी ज्वाइन की। उन्हें 1970 में कंपनी का डायरेक्टर नियुक्त किया गया। बाद में वे टीसीएस के पहले CEO बने। कोहली ने 1999 में 75 साल की उम्र में रिटायरमेंट ले लिया था।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

कोहली का जन्म पेशावर में हुआ था। उन्होंने कनाडा और अमेरिका में पढ़ाई की थी। इसके बाद देश लौटकर वे टाटा ग्रुप से जुड़े।

Related Posts